न्यूयॉर्क [प्रेट्र]। आप अलादीन की जादुई दुनिया से तो परिचित होंगे ही और उसमें एक जादुई कालीन को देखकर कभी न कभी आपका भी मन किया होगा कि काश वो आपके पास होती। एक हजार एक रातों के इस पात्र ने डिजनी की दुनिया में आकर बच्चों को लुभाने वाला काल्पनिक पात्र अलादीन अपने दुश्मनों से तभी जीत पाता है जब उसे उसके दोस्तों का साथ मिलता है।

उसके दोस्तों में से ही एक जादुई कालीन भी है, जिस पर बैठकर वो चंद पलों में एक जगह से दूसरी जगह उड़ान भर पाता है। अब वैज्ञानिकों ने अलादीन की इसी कहानी से प्रेरित होकर एक ऐसी चटाई बनाई है, जो न केवल अपना आकार बदल सकती है, बल्कि खुद आसानी से मुड़ भी जाती है। वैज्ञानिकों ने इस दो आयामी आकार बदलने वाली चटाई को तैयार करने में क्रियाशील तरल पदार्थ का प्रयोग किया है, जिसकी मदद से यह स्वयं आगे की ओर जमीन पर चलती है।

इसे तैयार करने वाले वैज्ञानिकों को कहना है कि यह चटाई खास तरह के तरल पदार्थ से तैयार की गई है, जो दूसरे तरल पदार्थ के संपर्क में आने पर स्वत: संचालित होती है। उन्होंने बताया कि एक रासायनिक प्रक्रिया के जरिये यह चटाई तरल पदार्थो की मदद से गतिशील होती है और अपना आकार व जगह बदलती है।

अमेरिका स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग की वैज्ञानिक एना सी ब्लैज्स के मुताबिक, रसायन की मदद से एक बेजान चीज को चलने-फिरने लायक बनाना बड़ी चुनौती थी। वो भी एक ऐसी चीज जो आकार बदलने में सक्षम हो और अपने वातावरण के हिसाब से गति करके चीजों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने जैसे टास्क कर सके। हम ऐसी चीज तैयार करने में सफल हुए हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि पहले ऐसे क्रियाशील पैच तैयार किए गए थे जो रासायनिक रूप से क्रिया कर सकते थे, लेकिन वे तरल के अनुसार अपना आकार और स्थान बदलने में सक्षम नहीं थे। साइंस एडवांसेस नामक जर्नल में प्रकाशित इस शोध के बारे में बताया गया है कि टीम ने गोलाकार और आयताकार कणों का मॉडल तैयार किया, जो एक तरल पदार्थ से भरे माइक्रो चैंबर के भीतर स्वायत्त रूप से आगे बढ़ सकते हैं।

एना के मुताबिक, उन्होंने एक ऐसी प्रणाली विकसित की है, जो रासायनिक क्रिया की मदद से तरल पदार्थ को गति प्रदान करती है। इसकी मदद से चटाई अपने आप चलने और मुड़ने के साथ आकार भी बदलती है। चटाई में मौजूद केमिकल कैटलिस्ट (रसायन प्रक्रिया को संचालित करने वाले उत्प्रेरक) की तरह काम करते हैं। ऐसा पहली बार है जब किसी 2डी शीट कैटलिक केमिकल रिएक्शन की मदद से चलने के अलावा 3डी रूप में परिवर्तित हो जाती है।

इस तरह करती है काम
वैज्ञानिकों का कहना है कि चटाई में अलग-अलग जगहों पर उत्प्रेरक लगाए गए हैं, जो इसमें मौजूद तरल पदार्थ को नियंत्रित करने का काम करते हैं। शोध टीम से जुड़े वैज्ञानिक ओलेग ई शकलियाव का कहना है कि यह किसी सामान को उठाने, कम वजनी चीजों को पकड़ने और जमीन को साफ करने जैसा काम कर सकती है।

ये काम भी किए जा सकते हैं
वैज्ञानिकों का कहना है कि यह चटाई रासायनिक ऊर्जा का इस्तेमाल चलने-फिरने में करती है। इसकी मदद से कई तरह के काम किए जा सकते हैं। इसके अलावा, अगर इस चटाई को फूलों का आकार दिया जाए तो यह अपने आप खिलने और कली में भी तब्दील हो सकती है।

यह भी पढ़ें-
पृथ्वी से तीन गुना बड़े इस नए ग्रह पर मिले जिंदगी के संकेत, ‘बौने’ तारे का लगा रहा चक्कर
प्रदूषण को दोगुनी रफ्तार से मिटाता है यह नन्हा उस्ताद, एलईडी रोशनी भी है पर्याप्त
Upper Caste Reservation: 99 फीसद ग्रामीण परिवार होंगे आर्थिक आरक्षण के दायरे में
Upper Caste Reservation: सवर्ण आरक्षण में क्रीमी लेयर लागू करने की चुनौती

Posted By: Amit Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप