उत्तरकाशी, जेएनएन। आपदाओं में राहत और बचाव में अपनी महत्वपूर्ण भूमिक निभाने वाला नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) कोरोना महामारी के राहत बचाव को लेकर भी आगे आया है। संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर बनाने के लिए निम ने जिला प्रशासन को अपनी सहमति दी है। निम में 150 लोगों के क्वारंटाइन किए जाने की बेहतरीन व्यवस्था है।

कोरोना संक्रमण के कारण नेहरू पर्वतारोहण संस्थान में पर्वतारोहण के बेसिक, एडवासं, सर्च एंड रेस्क्यू सहित विभिन्न चोटियों के आरोहण अभियान सभी स्थिगित हैं। अब जब जनपद में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं तो कोरोना के राहत बचाव में निम संस्थान आगे आया है। निम ने अपने 150 लोगों के क्वारंटाइन किए जाने वाले भवन को संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर के लिए जिला प्रशासन को सौंपा। निम में क्वारंटाइन किए जाने के लिए पर्याप्त व्यवस्थाएं हैं। 

आपदाओं के दौर में निम की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण रही है। वर्ष 2012 की आपदा में उत्तरकाशी में राहत और बचाव के बाद वर्ष 2013 में केदारनाथ की आपदा में भी निम की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण रही है। निम ने केदारनाथ में पुनर्निर्माण के कार्य को भी बखूबी से किया है। निम के प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट ने कहा कि इस वैश्विक आपदा की घड़ी में निम भी अपना दायित्व निभा रहा है।

यह भी पढ़ें: LIVE Uttarakhand Coronavirus Update: उत्‍तराखंड में कोरोना के 16 नए मरीज, प्रदेश में कुल संक्रमित 148

निम के पास 150 लोगों के संस्थागत क्वारंटाइन की क्षमता है। जिला प्रशासन ने निम में क्वारंटाइन का उपयोग करना भी शुरू कर दिया है। निम के परिसर में जो बच्चे और निम के परिवार के सदस्य सुबह-शाम टहलते थे। उनको भी घर पर रहने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें: ताला बंद स्कूल में युवक क्वारंटाइन, छत पर गुजार रहे हैं रात Haridwar News

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस