देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus Update उत्‍तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार दोपहर तक पांच और नए मामले सामने आए। इसमें दो ऋषिकेश, दो उधमसिंह नगर और एक हरिद्वार का है। वहीं, पौड़ी जिले के पाबौ ब्लॉक के पीपली गांव में होम क्‍वारंटाइन में रह रहे एक व्‍यक्ति की मौत हो गई। वह 10 मई को गाजियाबाद से लौटा था। प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 153 हो गई है। अभी तक आए मामलों में 56 मरीज ठीक हो चुके हैं।

ऋषिकेश में तीन लोगों की जांच रिपोर्ट आई पॉजिटिव

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्‍स) ऋषिकेश में सैंपल जांच के बाद तीन लोगों में कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें में एक मरीज डबकी कला लक्सर हरिद्वार का रहने वाला है, जबकि दो अन्य लोग ऋषिकेश के हैं। एम्स के कोविड-19 नोडल अधिकारी डॉ मधुर उनियाल ने बताया कि सुमन विहार बापू ग्राम ऋषिकेश निवासी 53 वर्षीय एक पुरुष और बैराज कॉलोनी वीरभद्र रोड ऋषिकेश निवासी 30 वर्षीय एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

उधमसिंह नगर में दो और लोगों की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव 

यूएस नगर में दो और लोगों की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इनमें दिल्ली से आए ग्राम सर्वरखेड़ा निवासी 23 वर्षीय युवक और महाराष्ट्र से आये 46 वर्षीय एक व्यक्ति महुआडबरा का रहने वाले हैं। दोनों जसपुर में क्वारंटाइन सेंटर में हैं। दोनों की ट्रैवेल हिस्ट्री खंगाली जा रही है। अब जिले में इनकी संख्या बढ़कर 31 हो गयी।

पौड़ी में होम क्‍वारंटाइन में एक व्‍यक्ति की मौत

पौड़ी जिले के पाबौ ब्लॉक के पीपली गांव में गाजियाबाद से आए एक प्रवासी की बीती देर रात घर पर मौत हो गई। वह घर में ही क्वारंटाइन था। सूचना पर स्वास्थ्य विभाग के साथ पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची है। चौकी इंचार्ज अजय सिंह ने बताया कि शैलेंद्र चमोली नाम का यह व्यक्ति पिछले लंबे समय से बीमार चल रहा था। उसका इलाज गाजियाबाद के ही किसी अस्पताल में चल रहा था। 10 मई को वह अपने गांव लौटा था, जहां घर पर ही वह क्‍वारंटाइन में था। गुरुवार की  देर रात को उसकी तबीयत खराब हुई, जिससे उसकी मौत हो गई। मेडिकल स्टाफ जेपी वर्मा ने बताया की शैलेंद्र कुछ समय से बीमार था। प्रथम दृष्टि देखने से लगता है कि हृदय गति रुकने से उसकी मौत हुई होगी। पुलिस प्रशासन ने पंचनामा भरके शव को जिला अस्पताल पौड़ी पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया जा रहा है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का पता चलेगा।

आपको बताते चलें कि पौड़ी जिले में क्वारंटाइन सेंटर में यह तीसरी मृत्यु है। इससे पहले भी एक महिला और पुरुष की मृत्यु क्वारंटाइन सेंटर में हो चुकी है। शैलेंद्र चमोली की मृत्यु के बाद से ही बाजार में अब अपवाहों का दौर शुरू हो गया है। हालांकि, जिला प्रशासन ने सभी से धैर्य बनाए रखने की अपील की है।

लॉकडाउन-3 में मिली छूट के कारण न केवल अन्य राज्यों से उत्तराखंड आने वाले लोगों की आमद बढ़ी, बल्कि कोरोना का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि बीते 13 दिन में प्रदेश में कोरोना के 83 मामले आ चुके हैं। इनमें अधिकतर दूसरे राज्यों से लौटे लोग हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, गुरुवार को 995 सैंपल की रिपोर्ट मिली है। जिनमें 979 रिपोर्ट निगेटिव और 16 मामले पॉजिटिव हैं।

देहरादून में कोरोना पॉजिटिव मिला शख्स निरंजनपुर मंडी में एक आढ़ती के यहां काम करने वाला 32 वर्षीय व्यक्ति है। गुरु रोड निवासी यह व्यक्ति सांस में दिक्कत के चलते 19 मई को श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती हुआ था। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मरीज को दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है। पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम उसके संपर्क में आए लोगों को ट्रेस कर रही है। उत्तरकाशी में कोरोना संक्रमित तीन लोग जिला अस्पताल के आइसोलेशन में हैं। 

इनमें जगड़गांव निवासी 30 वर्षीय युवक और केल्सू निवासी 24 वर्षीय युवक मुंबई से एक निजी बस से 17 प्रवासियों के साथ लौटा था। जिनमें कोरोना पॉजिटिव एक महिला पहले ही दून में भर्ती है। इसके अलावा 35 वर्षीय एक अन्य युवक डख्याटगांव निवासी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आया था। उधर जसपुर में कोरोना संक्रमित मिला व्यक्ति सिलवासा से लौटा है। 

वहीं काशीपुर के मोहल्ला किला निवासी 21 वर्षीय कोरोना संक्रमित मुंबई से लौटा है। बागेश्वर में जिन चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वह सभी दिल्ली व गाजियाबाद से लौटे हैं। इनमें दो लोग होम व दो संस्थागत क्वारंटाइन में थे। हरिद्वार जिले में 21 वर्षीय युवक व 20 वर्षीय युवती में कोरोना की पुष्टि हुई है। सती मोहल्ला निवासी युवती 14 मई को दिल्ली से रुड़की अपने घर लौटी थी। वहीं लंढौरा निवासी युवक महाराष्ट्र से लौटा है।

उधर, अल्मोड़ा में रिची बिल्लेख निवासी 33 वर्षीय व्यक्ति अपनी पत्‍नी व दो बेटियों के साथ 10 मई को गुरुग्राम से लौटा था। यह सभी पहले होम क्वारंटाइन थे। पर 19 मई को दो वर्षीय बेटी को बुखार आने पर पिता-पुत्री को नागरिक अस्पताल में आइसोलेट किया गया। बेटी की रिपोर्ट निगेटिव, जबकि उसकी पॉजिटिव आई है। कोरोना संक्रमित की पत्‍नी व दूसरी बेटी को भी संस्थागत क्वारंटाइन कर सैंपल लिया जा रहा है। उधर, नैनीताल जनपद में भी तीन लोग कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इनमें एक रामनगर निवासी 19 वर्षीय युवक कोरोना कुछ दिन पहले ही हैदराबाद से लौटा था। इसके अलावा 24 वर्षीय युवक व 60 वर्षीय बुजुर्ग की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

देहरादून व अल्मोड़ा में एक-एक पॉजिटिव

रेड जोन से दून पहुंच रहे लोगों पर प्रशासन ने निगरानी बढ़ा दी है। खासकर मुंबई, दिल्ली, गुजरात व राजस्थान से आए लोगों का सघन स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। अब तक ऐसे 217 लोगों को अलग-अलग क्वारंटाइन सेंटरों में भेजा गया है। जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि मुंबई, गुजरात व राजस्थान से लौटे 217 लोगों को बिधौली व कुछ अन्य क्षेत्र के क्वारंटाइन सेंटरों में भेजा गया है।

यह भी पढ़ें: ताला बंद स्कूल में युवक क्वारंटाइन, छत पर गुजार रहे हैं रात Haridwar News

अब इनके कोरोना जांच के सैंपल लिए जाएंगे। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आएगी, उन्हें होम क्वारंटाइन के लिए भेज दिया जाएगा। होम क्वारंटाइन किए गए 493 लोगों की गुरुवार को निगरानी कर स्वास्थ्य की जानकारी ली गई। वैसे गुरुवार को कुल 28 हजार 500 लोगों की निगरानी की गई। अब तक दून में कुल 6606 लोगों को होम क्वारंटाइन किया जा चुका है। उधर, रैंडम सैंपलिंग में कुल 84 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें आशारोड़ी पर 28, कुल्हाल चेकपोस्ट पर 08, रायवाला में 13 व महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में 35 लोगों के सैंपल लिए गए।

यह भी पढ़ें: दिल्ली से आए प्रवासी सीधे पहुंचे घर, हंगामा; पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस