नई टिहरी, [जेएनएन]: जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायालय पोक्सो की अदालत ने डेढ़ साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने के मामले में सौतेले पिता को सजा-ए- मौत सुनाई है। साथ ही 50 हजार रुपये अर्थदंड लगाया है। 

अभियोजन पक्ष के मुताबिक वर्ष 2016 में घनसाली तहसील क्षेत्र के एक व्यक्ति ने अपनी डेढ़ साल की सौतेली बेटी के साथ पहले दुष्कर्म किया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी थी। बच्ची के शव को उसने जंगल में दफना दिया था। 

डर के मारे बच्ची की मां ने चार दिन चुप्पी साधे रखी। बाद में गांव की महिलाओं ने उसे हिम्मत बंधाई और पति के खिलाफ राजस्व पुलिस में शिकायत दर्ज कराने पहुंची। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर जंगल में खुदाई करके बच्ची का शव बरामद किया। 

जिला एवं सत्र न्यायालय में मामले की सुनवाई चली। अभियोजन पक्ष की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता चंद्रवीर नेगी ने अदालत में 13 गवाह पेश किए।  सोमवार को अदालत ने सजा के प्रश्न पर दोनों पक्षों को चुना। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने अभियुक्त सौतेले पिता को मृत्यु दंड की सजा सुनाई। उसे पचास हजार रुपये का अर्थदंड भी सुनाया।

यह भी पढ़ें: दुष्कर्म और हत्या के दोषियों की फांसी की सजा पर हार्इकोर्ट की मुहर

यह भी पढ़ें: टैक्सी ड्राइवर ने युवती से की छेड़छाड़, इस तरह सिखाया सबक

यह भी पढ़ें: किशोरी से दुष्कर्म को लेकर हंगामा, आरोपी को किया गिरफ्तार

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस