रुद्रप्रयाग, जेएनएन। आगामी केदारनाथ यात्रा के सफल संचालन को मंदिर समिति ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं। प्रशासन जहां पैदल मार्ग को खोलने के लिए मार्ग से बर्फ हटा रहा है, वहीं मंदिर समिति भी मंदिर परिसर में बर्फ हटाने व बर्फबारी से मंदिर समिति को हुए नुकसान का आंकलन करने के लिए केदारनाथ के लिए रवाना हो गई। यह टीम मंदिर निरीक्षण के बाद रिपोर्ट तैयार करेगी और इसी आधार पर मंदिर के अंदर व बाहर तैयारियों की कार्ययोजना बनाएगी।

आगामी नौ मई को सुबह पांच बजकर 35 मिनट पर भगवान केदारनाथ के कपाट आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोले जाएंगे। यात्रा को देखते हुए बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति का सात सदस्यीय दल मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह के नेतृत्व में बुधवार को सुबह आठ बजे शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से केदारनाथ के लिए रवाना हो गया। 

मंदिर समिति के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी ने बताया कि यह दल धाम पहुंच कर मंदिर क्षेत्र का निरीक्षण करेगा। भारी बर्फवारी के मद्देनजर मंदिर परिसर, कार्यालय, पूजा काउंटर, भोग मंडी, प्रवचन हाल, रावल-कर्मचारियों के प्रवास के लिए बने हट, मंदिर की विद्युत व पेयजल व्यवस्था की समीक्षा करेगा। 

इसके साथ ही संबधित स्थानों से बर्फ हटाए जाने एवं यात्रा काउंटरों की साफ सफाई रंग रोगन करने की कार्ययोजना भी बनाई जाएगी। जिससे यात्रा से पूर्व इन समस्त व्यवस्थाओं को चाक चौबंद किया जा सके। 

इस टीम में कार्याधिकारी बीडी सिंह समेत सहायक अभियंता गिरीश देवली व विपिन तिवारी भी शामिल हैं। इससे पूर्व मंदिर समिति का एक दल 31 मार्च को बद्रीनाथ में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा ले चुका है।

यह भी पढ़ें: कालिका मंदिर में ध्वजारोहण महोत्सव शुरू, शक्ति अर्जित करने को चिंतन पर जोर

यह भी पढ़ें: आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर बोले, गंगा से मेरा गहरा नाता

यह भी पढ़ें: श्री श्री रविशंकर बोले, रामजन्‍मभूमि विवाद का समाधान निकालने के लिए करेंगे हर संभव कोशिश

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप