रुद्रप्रयाग, [बृजेश भट्ट]: इस वर्ष प्रथम चरण रिकॉर्ड यात्रियों के केदारनाथ पहुंचने से प्रफुल्लित व्यापारी अब सितंबर से दूसरे चरण की यात्रा से भी बड़ी उम्मीद लगाए हुए हैं। वहीं, सितंबर शुरू होते ही केदारनाथ में फिर यात्रियों की आमद बढ़ने लगी है और धाम के लिए हेली सेवाएं भी शुरू हो गई हैं।

केदारघाटी के हजारों व्यवसायियों की रोजी-रोटी यात्रा सीजन पर ही निर्भर है। अच्छा यात्रा सीजन चलने से आमदनी भी अच्छी होती है और छह महीने की यात्रा से वर्षभर के लिए रोजी-रोटी की व्यवस्था भी हो जाती है। आपदा के पांच वर्ष बाद पहली बार यात्रा के शुरुआती दो महीनों में रिकॉर्ड छह लाख से अधिक यात्री केदारनाथ धाम पहुंचे। यह केदारनाथ यात्रा के इतिहास में सर्वाधिक संख्या है। यही वजह है कि बरसात के बाद दूसरे चरण में भी केदारघाटी के व्यापारी ऐसी ही यात्रा चलने की उम्मीद कर रहे हैं। 

चारधाम यात्रा वर्ष में सिर्फ छह महीने ही संचालित होती है, लेकिन बरसात के दो महीने भूस्खलन व हाइवे के अवरुद्ध होने से उस पर विराम-सा लग जाता है। सितंबर में बरसात थमने के बाद यात्रा फिर जोर पकड़ने लगती है। हालांकि, दूसरे चरण में यात्रियों की संख्या पहले चरण की तुलना में कम रहती है। इस बार प्रथम चरण में प्रतिदिन 13 हजार से अधिक यात्री दर्शनों को पहुंच रहे थे। ऐसे में व्यापारियों को उम्मीद है कि दूसरे चरण में भी यह प्रतिदिन पांच हजार के आसपास रह सकती है। व्यापार संघ केदारनाथ के अध्यक्ष महेश बगवाड़ी कहते हैं कि सितंबर से मौसम खुशगवार होने के साथ धाम के हेली सेवा भी शुरू हो गई है। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत मिलेगी।

केदारनाथ में मौसम हुआ सुहावना

इन दिनों केदारनाथ में हरियाली चारों ओर रंगत बिखेर रही है। यहां पहुंचने वाले यात्री इस नैसर्गिक सौंदर्य से अभिभूत हो रहे हैं। वयोवृद्ध तीर्थपुरोहित श्रीनिवास पोस्ती कहते हैं कि सितंबर-अक्टूबर में ज्यादा ठंड भी नहीं रहती और दोपहर में धूप भी अच्छी खिलती है। इन दिनों हिमालय की शृंखलाएं भी मनमोहक नजारा पेश करती हैं।

रोजाना पहुंच रहे 700 से 900 यात्री

इस सीजन में अब तक छह लाख 48 हजार 82 यात्री केदारनाथ पहुंच चुके हैं। जबकि, बीते एक सप्ताह से रोजाना 700 से लेकर 900 यात्री तक केदारनाथ पहुंच रहे हैं।

बदरी-केदार मंदिर समिति के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी ने बताया कि सितंबर में मौसम खुलने के साथ ही केदारनाथ पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या बढऩे लगी है। उम्मीद है कि इस बार सितंबर-अक्टूबर में बड़ी संख्या में यात्री केदारनाथ पहुंचेंगे और धाम में प्रथम चरण जैसी ही रंगत रहेगी

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड के इस अमर कल्‍पवृक्ष की उम्र जानकर हो जाएंगे हैरान

यह भी पढ़ें: बदरीनाथ आरती की पांडुलिपि धरोहर के रूप में संरक्षित

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप