पिथौरागढ़, जागरण टीम: धारचूला में काली नदी किनारे भारत की तरफ तटबंध निर्माण का कार्य नेपाल के कुछ तत्वों को रास नहीं आ रहा है। रविवार को अंतरराष्ट्रीय पुल से लगभग सौ मीटर दूर भारत में तटबंध निर्माण का कार्य चल रहा था तो अचानक नेपाल की तरफ से भारी पथराव हुआ। पथराव होने से कार्य कर रहे मजदूरों में अफरा तफरी मच गई। एक मजदूर के सिर पर पत्थर लगने से गंभीर घायल हो गया। इस घटना को अफरा तफरी के साथ भी रोष भी व्याप्त हो गया।

संवेदनाओं की हदें पार : नशे में डॉक्‍टर ने कराई डिलीवरी... बच्‍चे की मौत, नवजात के शरीर पर मिले कट के निशान

कार्यस्‍थल छोड़कर भागे मजदूर

रविवार को भारत में जब तटबंध निर्माण का कार्य चल रहा था तो नेपाल की तरफ से पथराव होने लगा। सिंचाई विभाग के मौके पर मौजूद अवर अभियंता पंकज महरा ने बताया कि यहां कार्य चल रहा था तो अचानक नेपाल की तरफ से पत्थरबाजी हुई। पथराव होने से मजदूरों में अफरा तफरी मच गई। सभी कार्यस्थल छोड़ कर भाग गए। एक मजदूर संतोष कुमार से सिर पर पत्थर लगने से घायल हो गया। जिसके सिर पर चार टांके लगाए गए हैं और अस्पताल में भर्ती है। मजदूर नेपाल निवासी बताया जा रहा है। इसकी सूचना उपजिलाधिकारी को दी गई ।

आवाजाही का रास्‍ता किया गया बंद 

उपजिलाधिकारी दिवेश शाशनी मौके पर पहुंचे। उन्होंने स्थिति का पूरा हवाला लेते हुए नेपाल के दार्चुला के जिल्लाधिकारी से घटना कको लकर बात की। अभियंताओं का कहना था कि नेपाल की तरफ से पूर्व में भी कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा इस तरह की घटनाएं की जा चुकी हैं। वहीं नेपाल पुलिस के जवानों ने कहा कि अब आगे से इस तरह की घटनाएं नहीं होने दी जाएगी। इसी के साथ नेपाल की तरफ से अंतरराष्ट्रीय पुल भी बंद कर दिया गया। नेपाल में पुल होने पर भारत की तरफ से भी पुल बंद हो गया। लगभग ढाई घंटे तक पुल बंद होने से दोनों तरफ लोग फंसे हैं। भारत से नेपाल गई बारात और नेपाल से भारत से आने वाली चार बारातें फंस गई। पुल बंद होने से हो रही दिक्कतों को देखते हुए नेपाल धारचूला के सीडीओ और धारचूला के एसडीएम दिवेश शाशनी के बीच वार्ता हुई ।

अंतरराष्ट्रीय पुल पर एसडीएम और नेपाल के सीडीओ के बीच वार्ता

ढाई घंटे तक पुल बंद रहने के दौरान दोनों देशों में लोग फंस गए। भारत की तरफ फंसे नेपाली नागरिकों की संख्या नेपाल में फंसे भारतीयों से कई गुना अधिक रही। एसडीएम और दार्चुला के सीडीओ दिर्घराज उपाध्याय के बीच वार्ता हुई। वार्ता में सीडीओ दार्चुला ने कहा कि नेपाल में इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाई जाएगी। नेपाल में पुलिस लगातार नजर रखेगी।

दोनों अधिकारियों के बीच वार्ता में तय हुआ कि दोनों देशों में इस तरह की हरकत करने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी । इस संबंध में एक दो दिन में दोनों देशों के प्रशासन के बीच वार्ता होगी। वार्ता के बाद पुल खोला गया। पुल खोलते ही आने जाने के लिए आपाधापी मच गई। नेपाल में तो भीड़ नियंत्रण के लिए नेपाल पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। एक भारतीय नागरिक रमेश कुटियाल ने बताया कि उसके पांव में हल्की चोट आई।

यह भी पढ़ें- मकड़ी के ये फायदे आपको भी सोच में डाल देंगे... उत्‍तराखंड की प्रोफेसर ने किया शोध, मिला यंग साइंटिस्ट अवार्ड

Edited By: Mohammed Ammar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट