पौड़ी गढ़वाल, जेएनएन। उत्तराखंड की बेटियां सितारों की दुनिया में अपनी अलग पहचान बनाने में कामयाब हुई हैं। बड़े पर्दे की बात हो या छोटे पर्दे की, एक के बाद एक उत्तराखंड के कलाकार अपने हुनर का जादू बिखेर रहे हैं। इनमें एक नाम भावना बड़थ्वाल का भी है, जो रुपहले पर्दे पर सफलता की बुलंदियों को छू रही हैं। आपको बता दें कि इन दिनों बिग गंगा  चैनल पर शुरू हुए कॉमेडी सीरियल में वह अपने मॉडर्न मोहिनी अवतार के लिए चर्चाओं में है, जिसे दर्शक खूब पसंद कर रहे हैं। टीवी शो से एक्टिंग करियर की शुरुआत करने वाली भावना क्राइम पेट्रोल, सावधान इंडिया जैसे कई धारावाहिकों में काम करने के साथ ही शॉर्ट फिल्मों और कई विज्ञापनों में काम कर चुकी हैं।  

18 मार्च से बिग गंगा चैनल पर शुरू हुए धारावाहिक 'बगल वाली जान मारेली' में पौड़ी जिले के बीरौखाल ब्लॉक में महादेवसैंण की भावना बड़थ्वाल का नया अवतार लोगों को खूब पसंद आ रहा है। भोजपुरी कॉमेडी से भरपूर इस सीरियल के लिए भावना को कई ऑडिशन देने पड़े साथ ही अपने लुक को लेकर भी बहुत मेहनत करनी पड़ी। इसमें दो भोजपुरी परिवारों को दिखाया गया है। यह शो लोगों को बेहद पसंद आ रहा है। खासकर मोहिनी पांडे यानी भावना अपनी अदाओं से लोगों को खूब गुदगुदा रही हैं। 

इन शोज में कर चुकी है काम 

भावना इससे पहले अनुराग बासु के साथ रवींद्रनाथ टैगोर स्टोरी, सावधान इंडिया, क्राइम पेट्रोल जैसे कई धारावाहिकों में काम कर चुकी हैं और दूरदर्शन के प्रसिद्ध धारावाहिक '200 करोड़ की बोतल' में भी मुख्य भूमिका निभाकर वाहवाही बटोर चुकी हैं। भावना ने दो शॉर्ट फिल्मों में भी काम किया, जिन्हें फिल्म फेस्टिवल के लिए भेजा गया है। आदित्य नारायण के साथ भी भावना ने एक वीडियो एल्बम में काम किया है। फिर उन्होंने अपना प्रॉडक्शन हाउस खोला। 

भावना लिख चुकी हैं एक फिल्म 

भावना एक फिल्म भी लिख चुकी हैं जिसका नाम 'क्वेश्चन मार्क' है। यह उनके प्रॉडक्शन में बनी पहली फिल्म है। महिलाओं पर बेस्ड यह मूवी फिल्म फेस्टिवल के लिए भेजी जा रही है।

उत्तराखंड से है बेहद मोहब्बत

भावना को उत्तराखंड की सुंदर लोकशन बहुत भाती हैं। उन्हें अपने राज्य की खूबसूरती से बेहद प्रेम है। भावना चाहती हैं कि उत्तराखंड की खूबसूरती अधिक लोगों तक पहुंचे। भावना का सपना उत्तराखंड में फिल्म इंस्टीट्यूट खोलने का है। वह कहती हैं कि उत्तराखंड में बहुत से युवा फ़िल्म में कॅरियर बनाना चाहते हैं। लेकिन वह मुम्बई नहीं जा पाते। वह चाहती हैं कि स्थानीय प्रतिभाओं को राज्य में ही तैयारी का मौका मिल सके। इसलिए वह पौड़ी या फिर देहरादून में फिल्म इंस्टीट्यूट खोलना चाहती हैं। 

नहीं भूली अपनी संस्कृति  

भावना का जन्म जम्मू-कश्मीर में हुआ। उनके पिता आर्मी में थे, जिसके चलते उन्होंने देश के अलग-अलग स्थानों से शिक्षा प्रात की। उत्तराखंड से दूर रहने के बावजूद भी उन्होंने कभी अपनी बोली और अपने कल्चर को खुद से दूर नहीं होने दिया। आज भी वह घर पर और सोशल मीडिया पर अपने प्रशंसकों से अपनी बोली में बात करना पसंद करती हैं।

उनके पिता रिटायर्ड मेजर सूबेदार देशबंधु बड़थ्वाल इन दिनों देहरादून में एनडीए और मार्शल आर्टस की तैयारी कर रहे छात्रों को ट्रेंड करते हैं। उन्होंने बताया कि भावना को बचपन से ही पहाड़ों से प्यार रहा है। भावना ने उत्तराखंड गीतों में और क्षेत्रीय फिल्मों में नौ साल तक काम किया है।

यह भी पढ़ें: गायक दर्शन रावल ने बिखेरा आवाज का जादू, झूम उठे छात्र

यह भी पढ़ें: अभिनेत्री मल्लिका शेरावत ने गंगा तट पर उड़ाया रंग, इस बात आया उन्हें गुस्सा

यह भी पढ़ें: गायक मोहित चौहान द्विअर्थी गीतों को नहीं करते पसंद, बनाना पड़ता है बहाना

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप