काशीपुर (ऊधमसिंह नगर) जेएनएन : अटल आयुष्मान घोटाले में आरोपित डॉ. संतोष श्रीवास्तव व अन्य के खिलाफ सात दिनों से लिखी जा रही 58 पेज की एफआइआर शनिवार को पूरी कर ली गई। उत्तराखंड की सबसे बड़ी एफआइआर के चलते यह मामला अधिक चर्चा में आया है। अटल आयुष्मान योजना राज्य स्वास्थ्य अभिकरण के अधिशासी अधिकारी धनेश चंद की तहरीर पर कटोराताल चौकी पुलिस ने शनिवार को एमपी मेमोरियल हॉस्पिटल के संचालक डॉ. संतोष श्रीवास्तव व अन्य स्टाफ के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया। 

तो इस कारण बड़ी हो गई एएफआइआर  

सामान्यत: एफआइआर दो पेज से अधिक की नहीं होती, लेकिन आयुष्मान घोटाले की एफआइआर कुल 58 पेज की हो गई। एफआइआर के लिए अधिशासी अधिकारी ने जांच रिपोर्ट ही पुलिस को दे दी। उसमें प्रयुक्त मेडिकल शब्दावली और अंग्रेजी भाषा के कारण एफआइआर में देरी हुई और पेजों की संख्या भी बढ़कर 58 हो गई। मीडिया में लंबी एफआइआर संबंधी चर्चा के बाद पुलिस ने अपनी स्पीड भी बढ़ा ली थी। मुख्य रूप से मुंशी प्रमोद जोशी के अलावा तीन अन्य कर्मियों को भी कंप्यूटर में टाइपिंग के लिए लगाया गया। कोतवाल चंद्रमोहन सिंह रावत के मुताबिक दो सितंबर को तहरीर के रूप में मिली जांच रिपोर्ट का पढऩे के बाद प्राथमिकी दर्ज करने को लिखापढ़ी शुरू की गई। अध्ययन कर लेने के बाद 14 सितंबर से एफआइआर लिखनी शुरू हुई और 21 सितंबर को पूरी कर ली गई। 

यह है मामला 

एमपी मेमोरियल हॉस्पिटल में कागजों में मरीज दर्शाकर क्लेम लेने की शिकायत हुई थी। इस पर योजना के राज्य स्वास्थ्य अभिकरण ने चार जुलाई को डॉ. संतोष श्रीवास्तव को कारण बताओ नोटिस जारी किया। उन्होंने 19 जुलाई को जवाब दे दिया। इसके बाद 31 अगस्त को हॉस्पिटल की अटल आयुष्मान योजना से सूचीबद्धता तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई। दो सितंबर को अभिकरण ने थानाध्यक्ष काशीपुर को आरोपित डॉक्टर व अन्य स्टाफ के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने के लिए तहरीर दी। आरोप लगाया कि डॉक्टर ने सरकार को 18.52 लाख रुपये की चपत लगाई है।  

जैसा कि एएसपी ने बताया 

डॉ. जगदीश चंद्र, एएसपी काशीपुर ने बताया कि एमपी मेमोरियल हॉस्पिटल के संचालक डॉ. संतोष श्रीवास्तव व अन्य के खिलाफ अटल आयुष्मान योजना में घोटाले की एफआइआर शनिवार को दर्ज कर ली गई है। 58 पेज की यह एफआइआर कटोराताल पुलिस चौकी में लिखी गई है। विवेचना एसएसआइ विनोद जोशी को सौंपी गई है।

यह भी पढ़ें : निरीक्षण के दौरान मारपीट के मामले में दारोगा सहित चार पुलिसकर्मी निलंबित

यह भी पढ़ें : हेडफोन लगाकर उप्र निवासी युवक पार कर रहा था ट्रैक, ट्रेन से कटकर हुई दर्दनाक मौत

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप