रुद्रपुर, जेएनएन : कोरोना से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने पूरी ताकत झोंक दी है। लॉकडाउन में दूसरे राज्यों से आए लोगों का दबाव बढ़ा तो प्रशासन ने पंत विवि के छात्रावासों को क्वारंटाइन सेेंटर बनाने जा रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन के साथ हुई वार्ता के बाद कुलपति ने छात्रवास खाली कराने के लिए वार्डेनों को निर्देश दे दिए हैं। साथ ही एक समिति बना दी है। कमरोंं केे ताले तोड़कर छात्रों के सामान को कामन रुम में रखा जाएगा। जिले का सबसे बड़ा वार्ड होगा,जहां पर दो से तीन हजार बेड होंगे। जबकि जिला अस्पताल में दो सौ बेड की तैयारी की जा रही है।

लॉकडाउन के दौरान दूसरे राज्यों में रोजगार के लिए लोग घर पलायन करने लगे। यूएस नगर में गुरुवार तक पांच सौ लोगों को विभिन्न स्थानों पर क्वारंटाइन किया गया है। लोगों को 14 दिन के लिए अलग रखा गया है। जिससे कोरोना वायरस से बचा जा सके। किच्छा रोड स्थित राधा स्वामी सत्संग भवन में भी काफी भीड़ बढ़ गई है। प्रशासन के साथ विभिन्न स्वयंसेवी संगठन भोजन मुहैया करा रहे हैं। जिलाधिकारी डाक्टर नीरज खैरवाल व एसएसपी बरिंदरजीत सिंह गुरुवार को पंत विवि पहुंचकर कुलपति डाक्टर तेज प्रताप से वार्ता की। प्रशासन ने कहा कि लॉकडाउन में बाहर से आए लोगों को क्वारंटाइन के लिए छात्रावासों की जरुरत है। कुलपति ने विवि के शास्त्री भवन, शिवालिक भवन, स्वर्ण जयंती भवन व विवेकानंद भवन को छोड़कर सभी हॉस्टल प्रशासन को देने के लिए रोजी हो गए। प्रशासन की ओर से गई टीम भी छात्रावासों को देखा।

कुलपति ने वार्डेनों को हॉस्टल खाली करने को कहा है। साथ ही कमरों के ताले तोड़कर उसमें सभी सामान की सूची तैयार कर सामान को छात्रावास के कामनरुम या प्रत्येक विंग के एक या दो कमरों में रखवाकर सील करने को कहा है। इसके लिए एक समिति गठित कर दी। बताया गया कि छात्रावासों में 2000 से 3000 हजार लोगों को क्वारंटाइन किया जाएगा। कमरों को खाली करने में विवि की टीम लग गई है।

यह भी पढें

भाई को मिट्टी देनी थी और बुजुर्ग मां को दवा, जानिए हल्द्वानी में फंसे युवाओं का दर्द 

=  पद्ममश्री निर्मल खालसा ने हल्द्वानी को दिया था गुरु ग्रंथ साहिब का संदेश 

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस