सितारगंज, जेएनएन : 74 वर्षीय रतनलाल गुप्ता के लिए गुरुवार की सुबह उनके जीवन की यादगार सुबह बन गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे बात करने के लिए फोन किया और तीन चार मिनट तक बात कर अपनी सहजता और सरलता से अभीभूत किया। 58 वर्षों से सामाजिक एवं राजनैतिक गतिविधियों में सक्रिय भूमिका निभाने वाले वरिष्ठ नेता रतनलाल पार्टी के ईमानदार और निष्ठावान कार्यकर्ता हैं । उन्होंने कभी सपने मे भी ऐसा सोचा ही नहीं था कि देश का मुखिया उन्हें फोन कर उनके स्वास्थ्य का हाल-चाल जानने के साथ कुशल क्षेम पूछेगा। पीएम से बात करने के बाद बुजुर्ग नेता खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। परिवार में जश्न का माहौल है।

1960 में पिता के साथ आए सितारगंज

पांच अक्टूबर 1946 को हरियाणा प्रांत के रेवाड़ी जिले के बांस बतोड़ी में जन्मे रतन लाल गुप्ता 1960 में पिता देवकीनंदन के साथ सितारगंज आ गए थे। उनके पिता आढ़ती थे। रतनलाल 16 साल की उम्र में ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ गए थे। 1962 में संघ से जुड़ने के बाद रतन लाल गुप्ता ने तहसील कार्यवाह तहसील संघ संचालक के दायित्वों का निर्वाह भी किया। 1967 में जनसंघ से वह जुड़ गए। 1975-77 के दौरान इमरजेंसी के समय में उन्हें यातनाएं भी झेलनी पड़ी। वर्ष 1990 में राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया, इसके बाद 24 दिन तक उन्हें अल्मोड़ा की सेंट्रल जेल में रखा गया।

उतार-चढ़ाव वाला रहा राजनीतक कॅरियर

1987 से 94 तक वह व्यापार मंडल के अध्यक्ष पद का दायित्व संभाल चुके हैं। वर्ष 1988 और 1997 में भाजपा के सिंबल पर नगर पालिका अध्यक्ष पद का चुनाव भी लड़ चुके हैं, लेकिन दोनों चुनाव काफी कम मतों के अंतर से हार गए। वर्ष 2007 से 2009 तक वह भाजपा के जिला अध्यक्ष का पद भी संभाल चुके हैं। तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के कार्यकाल में प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य रहे । 1966 से एलआईसी का कार्य कर रहे रतन लाल गुप्ता सरस्वती शिशु मंदिर की स्थापना, अग्रसेन ट्रस्ट. रामलीला कमेटी आदि कई सामाजिक संगठनों में भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर चुके हैं। महाराणा प्रताप चौक के पास पीडब्ल्यूडी ऑफिस के सामने रहने वाले रतन लाल गुप्ता के तीन पुत्र व दो बेटियां हैं। बेटियों का विवाह हो चुका है पुत्र इलेक्ट्रॉनिक्स के धंधे में लगे हुए हैं।

रुद्रपुर में पीएम का किए थे स्वागत

बीते वर्ष चुनाव के दौरान जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रुद्रपुर जनसभा करने पहुंचे थे उस वक्त प्रधानमंत्री के स्वागत समिति में रतन लाल गुप्ता भी थे। उन्होंने भी मंच पर प्रधानमंत्री काे फूलों का हार पहनाकर स्वागत किया था। पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूरी . भगत सिंह कोश्यारी के साथ ही मौजूदा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ भी रतन लाल गुप्ता के बहुत ही मधुर संबंध रहे हैं। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत जब संगठन मंत्री थे तब रतन लाल गुप्ता उनके साथ भी संगठन में काम कर चुके हैं। वर्ष 2007 में उनके पिता देवकीनंदन का निधन हो गया था तब मौजूदा सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत उस वक्त प्रदेश के कृषि मंत्री थे। उन्होंने घर पहुंच कर उनके पिता के निधन पर शोक संवेदना भी व्यक्त की थी।

सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यक्रमों में करते हैं शिरकत

74 साल की उम्र होने के बाद भी रतन लाल गुप्ता सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यक्रमों में भागीदारी निभाते हैं। प्रधानमंत्री मोदी के फोन आने पर वह कहते हैं कि यह उनके लिए गौरव की बात है। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी पर देश की जिम्मेदारी है लेकिन उन जैसे छोटे साधारण कार्यकर्ताओं के स्वास्थ्य का हाल और कुशल क्षेम पूछने के लिए फोन करना बहुत बड़ी बात है। श्री गुप्ता ने कहा कि मोदी जैसा प्रधानमंत्री छोटे से छोटे कार्यकर्ता का बहुत ख्याल रखते हैं उनका फोन करना इस बात का परिचायक है। प्रधानमंत्री की इसी कार्यशैली से भारतीय जनता पार्टी लगातार मजबूती की ओर बढ़ती जा रही है।

यह भी पढें

हवा में जहर और पानी की गंदगी में कमी, आराम कर रही जमीं

लॉकडाउन में पहाड़ी उत्पादों ने दिखाई स्टार्टअप की राह, विदेशों में बढ़ी डिमांड

सोपस्टोन माइनों में कार्य शुरू, एक महीने बाद 1000 मजदूरों को मिला रोजगार

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप