लालकुआं, जेएनएन : लालकुआं के सीमैप औषधीय केंद्र पंतनगर के अंदर एक नर हाथी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना के बाद आनन फानन मौके पर पहुंचे वनाधिकारियों ने मामले की जांच प्रारंभ कर दी है। हाथी के दात सुरक्षित हैं और शरीर पर चाेट के भी निशान नहीं हैं। फिलहाल मौत कारणों का पता नहीं चल सका है।

 

बुधवार की सुबह कर्मचारियों ने सीमैप के भीतर एक नर हाथी का शव देखा। जिसके बाद मामले की सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दी गई। सूचना पर तराई पूर्वी वन प्रभाग के डीएफओ नीतीश मणि त्रिपाठी, गोला रेंज के वन क्षेत्राधिकारी आरपी जोशी समेत तमाम अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

 

मृत हाथी की उम्र करीब आठ वर्ष आंकी जा रही है। दांत सुरक्षित हैं और शरीर पaर कोई भी चोट के निशान नहीं मिले। जिस कारण मौत का कारण पता नहीं चल सका है। वन विभाग के अधिकारियों ने हाथी के शव का पोस्टमार्टम करा कर दफना दिया है । शव की हालत देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि हाथी मंगलवार की रात को मरा होगा। बताया जा रहा है कि बीती रात हाथियों का झुंड सीमा परिसर में घुसा था।

 

14 जून को सीटीआर में मिला था हथिनी का शव 

 

14 जून को भी कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व के ढेला रेंज में एक हथिनी का शव बरामद हुआ था। जिसको लेकर चर्चा थी कि हाथी की मौत बाघ के साथ संघर्ष में हुई है। जबकि अधिकारियों का कहना है कि उसकी गर्दन में घाव था। जिससे सेप्टीसिनिया नामक रोग की वजह से उसकी हुई है। बहरहाल हथिनी का पोस्टमार्टम कर उसे दफना दिया गया था।

बाबा रामदेव की मुसीबतें बढ़ीं, हाईकोर्ट ने कोरोना की दवा कोरोन‍िल मामले में जारी किया नोटिस 

भारतीय सीमा पर 89 नई बीओपी चौकी खोलेगा नेपाल, 10 हजार जवानों से बढ़ाएगा चौकसी  

चारधाम देवस्थानम बोर्ड के खिलाफ हाईकोर्ट में दायर स्‍वामी की याचिका पर सुनवाई जारी 

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस