मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

हरिद्वार, जेएनएन। अभिनेता कमल हासन के हिंदू आतंकवाद को लेकर दिए बयान पर संत आक्रोशित हैं। संतों ने इसे कमल हासन की ओछी मानसिकता करार देते हुए नसीहत दी कि वह पहले अपने गिरबां में झांकें। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि कमल को सोचना चाहिए कि वह क्या और क्यों कह रहे हैं। मांग की कि सरकार देश का माहौल खराब कर रहे ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करे।अभिनेता कमल हासन ने तमिलनाडु में चुनावी सभा में कहा कि नाथूराम गोडसे आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकवादी था। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत माता मंदिर के संस्थापक पद्मभूषण स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि ने कहा कि हिंदू धर्म सत्य, अहिंसा, शांति और प्रेम का संदेश देता है। उन्होंने कहा कि ऐसे बयान क्षुद्र मानसिकता का परिचय देते हैं।

दक्षिण काली पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद ने कहा कि अभिनेता कमल हासन राजनीति के चक्कर में दिमागी दिवालिएपन का शिकार हो गए हैं। उन्हें चिकित्सक से अपने दिमाग का इलाज का कराना चाहिए। वहीं भूमापीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ ने कहा कि ऐसे बयान किसी शिक्षित व्यक्ति के नहीं हो सकते। उन्होंने कहा कि साफ जाहिर है कि कमल हासन अपने दिमाग पर से नियंत्रण खो चुके हैं। हरिसेवा धाम के पीठाधीश्वर महामंलडेश्वर स्वामी हरिचेतनानंद ने कमल हासन के बयान को राजनीतिक लाभ के लिए की गई शोशेबाजी करार दिया। 

यह भी पढ़ें: सीताराम येचुरी के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का मुकदमा दर्ज

यह भी पढ़ें: विधायक चैंपियन के समर्थकों को हाई कोर्ट से नहीं मिली राहत, समय के अभाव में टली सुनवाई

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप