हरिद्वार, जेएनएन। मेला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कोराना संक्रमण जैसे लक्षणों के आधार पर पांच और लोगों को भर्ती किया गया। वर्तमान में आइसोलेशन वार्ड में आठ मरीज भर्ती हैं। वहीं, जिले में 208 लोगों को क्वारंटाइन किया गया। साथ ही जिले में 175 लोगों की स्क्रीनिंग की गई।

सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि जिले से अबतक 115 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए, इनमें 102 लोगों की रिपोर्ट आ चुकी है। सभी की रिपोर्ट निगेटिव है। जिला कंट्रोल रूम में विभिन्न क्षेत्रों में 62 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसका निस्तारण किया गया। बताया कि जिले के विभिन्न क्षेत्रों में 27 राहत कैंप लगाए गए हैं, इनमें 893 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है।

वहीं 208 लोगों को फैसिलिटी क्वरंटाइन किया गया। हरिद्वार जोन में भेल गेस्ट हाउस में 16, राजकीय नर्सिंग कॉलेज रोशनाबाद में 54, राही मोटल में 23, जबकि रुड़की जोन में सीबीआरआइ गेस्ट हाउस में 20, सिंचाई विभाग गेस्ट हाउस में छह, कलियर हज हाउस में सात, राही गेस्ट हाउस में 26, आइआइटी रुड़की गेस्ट हाउस में 19, होटल रॉयल पैलेस कलियर में 18, होटल साबिर अकिल में पांच, आर्य इंटर कालेज बहादराबाद में 40 को फैसिलिटी क्वरंटाइन किया गया है।

मृत किशोरी के माता-पिता की रिपोर्ट निगेटिव 

योगी विहार निवासी मृत किशोरी के माता-पिता की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। हालांकि एहतियान परिवार के आठ लोग होम क्वरंटाइन में हैं। ज्वालापुर थाना क्षेत्र के योगी विहार में रविवार को बुखार पीड़ित किशोरी की मौत हो गई थी। 

मामले में अस्पतालों की लापरवाही भी सामने आई थी। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ. राजेश गुप्ता से जहां पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की, वहीं आरके मिशन अस्पताल को नोटिस जारी किया गया था।

रेलवे ट्रेक से आ रहे 23 लोग पकड़े, क्वारंटाइन को भेजा

रुड़की शहर और देहात में अलग-अलग जगहों पर दूसरे राज्यों से रेलवे ट्रेक के जरिये आ रहे 23 लोगों को पुलिस ने पकड़ा है। इन सबको पुलिस ने अलग-अलग जगहों पर क्वारंटाइन के लिए भेजा है।

लॉकडाउन के दौरान भी लोगों का एक स्थान से दूसरी जगह जाने का सिलसिला जारी है। पहले लोग वाहनों में चोरी छिपे सफर कर अपने घरों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे थे। अब लोग रेलवे ट्रेक के जरिये दूसरे प्रदेशों से अपने घरों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं। हर दिन पुलिस ऐसे लोगों को पकड़कर क्वारंटाइन को भेज रही है। 

गत रात भगवानपुर पुलिस ने तेज्जूपुर गांव में रेलवे ट्रेक से होकर आ रहे 18 लोगों को पकड़ लिया। सभी लोग अंबाला से पैदल आ रहे थे। इसके अलावा गुरुवार सुबह भी पुलिस ने रेलवे ट्रेक से आ रहे 12 लोगों को तेज्जूपुर गांव के पास रेलवे ट्रेक पर रोक लिया। इनमें से किसी को मुरादाबाद उप्र तो किसी को उत्तराखंड के अन्य जिलों में जाना था। 

पुलिस ने इन सभी को 14 दिन के लिए आरएनआइ इंटर कॉलेज में क्वारंटाइन के लिए भेज दिया। वहीं सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस ने भी पीरबाबा कॉलोनी के पास रेलवे ट्रेक से आ रहे तीन मजदूरों को पकड़ा। यह सभी अंबाला से मुरादाबाद उप्र जा रहे थे। इन सबको शहर के एनआइएच स्थित एक गेस्ट हाउस में क्वारंटाइन किया गया है। वहीं पुलिस ने बुधवार को भी एनआइएच के गेस्ट हाउस में 13 लोगों को क्वारंटाइन किया था।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: रुड़की में हरियाणा और दिल्ली से आए तीन लोग भर्ती, जांच को भेजे सेंपल

बाहरी राज्यों से आए 37 लोग क्वारंटाइन

स्वास्थ्य विभाग ने बाहरी राज्यों और शहरों से आए करीब 37 लोगों को लक्सर में क्वारंटाइन किया है। इसके अलावा तीन लोगों में कोरोना जैसे लक्षण दिखने के बाद उन्हें उपचार व कोरोना जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा जा चुका है। एसडीएम पूरण सिंह राणा ने बताया कि यदि कोई व्यक्ति ऐसी जानकारी छिपाता है तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: एम्स में बढ़ेगी वेंटिलेटर की संख्या, डॉक्टरों को किया जाएगा क्वारंटाइन

Edited By: Bhanu Prakash Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट