हरिद्वार, जेएनएन। पुणे और सूरत के बाद बंगलुरु से 1076 प्रवासियों को लेकर तीसरी श्रमिक स्पेशल हरिद्वार रेलवे स्टेशन पहुंची। ट्रेन पहुंचते ही रेलवे, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया। इस दौरान शारीरिक दूरी के मानकों का पालन कराते हुए प्रवासियों को अलग-अलग निकास द्वार से सत्यापन के बाद स्टेशन परिसर में लाया गया। यहां जिलेवार खड़ी रोडवेज बसों में उन्हें बैठाकर गंतव्यों को रवाना किया गया।

प्रदेश सरकार की ओर से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासियों को स्पेशल ट्रेन से लाने की कवायद के क्रम में तीसरी श्रमिक स्पेशल बंगलुरु (कर्नाटक) से पहुंची। इस दौरान यात्रियों के जूते आदि भी सैनिटाइज कराए गए। यहां हरिद्वार के प्रवासियों की जहां थर्मल स्क्रीनिंग हुई।  

वहीं दूसरे जिलों के प्रवासियों को सत्यापन के बाद परिसर में जिलेवार खड़ी उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों में बैठाया गया। वहीं प्रशासन की ओर से दोपहर के भोजन की व्यवस्था की गई थी। इस दौरान जिलाधिकारी सी. रविशंकर, एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस, एडीएम वित्त और राजस्व केके मिश्रा, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसडीएम कुश्म चौहान, सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल, जीआरपी एएसपी मनोज कत्याल, एसओ अनुज कुमार, आरपीएफ इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार, स्टेशन डायरेक्टर अतुल शर्मा, स्टेशक अधीक्षक एमके सिंह, सीएमआइ वीएस रावत आदि मौजूद रहे।

करीब पौने तीन घंटे विलंब से पहुंची ट्रेन 

बंगलुरु से गाड़ी संख्या 06211 अपने निर्धारित समय से करीब पौने तीन घंटे विलंब से सुबह 11.10 पर हरिद्वार पहुंची। यह ट्रेन मंगलवार 12 मई दोपहर 12 बजे रवाना हुई थी। 22 कोच की ट्रेन में सामान्य दर्जे के डिब्बे थे।

स्टेशन पर नहीं हुई प्रवासियों की स्क्रीनिंग 

बंगलुरु से आने वाले प्रवासियों की भी हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर स्क्रीनिंग नहीं हुई। यहां केवल उनका सत्यापन किया गया। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि स्क्रीनिंग की व्यवस्था गाइड लाइन के अनुसार उनके गृह जनपदों में की जाएगी। साथ ही उन्हें वहीं क्वरंटाइन किया जाएगा। हरिद्वार जिले के 24 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग हुई। इनमें तीन यात्रियों के शरीर का तापमान सामान्य से ज्यादा होने के चलते इन्हें एंबुलेंस के जरिये आइसोलेशन केंद्र ले जाया गया।

बसों को किया सैनिटाइज

जिन रोडवेज बसों से प्रवासियों को ले जाना था, उसे पहले सैनिटाइज किया गया। स्टेशन परिसर खाली होते ही पूरे स्टेशन परिसर को सैनिटाइज किया गया। सीएचआइ जितेंद्र मीणा ने बताया कि क्लोरीन सॉल्यूशन से रेलवे स्टेशन की सफाई कराई गई है।

यात्रियों का जिलेवार ब्योरा

जिला----------------------यात्री

हरिद्वार--------------------24

उत्तरकाशी-----------------76

रुद्रप्रयाग------------------100

चमोली----------------------80

देहरादून--------------------82

पौड़ी------------------------98

पिथौरागढ़------------------02

चंपावत---------------------03

बागेश्वर--------------------12

अल्मोड़ा--------------------11

नैनीताल--------------------02

उधमसिंह नगर------------04 

टिहरी----------------------582

रोडवेज बसों से भेजा गृह जनपद 

हरिदवार के जिलाधिकारी सी. रविशंकर के मुताबिक, बंगलुरु से 1076 प्रवासी लेकर श्रमिक स्पेशल पहुंची। हालांकि प्रशासन को 1070 प्रवासियों के आने की सूचना मिली थी। इन्हें रोडवेज बसों से गृह जनपदों को भिजवा दिया गया है। वहीं इनकी स्क्रीङ्क्षनग कराकर क्वरंटाइन किया जाएगा। 

बोले प्रवासी 

टिहरी गढ़वाल के गोकुल सिंह के मुताबिक,  वह बंगलुरु में होटल लाइन में थे। लॉकडाउन में फंसे थे। प्रदेश सरकार की मदद से यहां पहुंचे हैं। ट्रेन से आने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आई। भोजन-पानी आदि भी समय-समय ट्रेन में ही मुहैया कराया गया। सभी का आभार।

पुलिस लाइन हरिद्वार में रहने वाली हिमांशी के अनुसार, मैं बंगलुरु में जिम ट्रेनर हूं। लॉकडाउन में फंसी थी। प्रदेश सरकार के प्रयास और गंगा मैया की कृपा से यहां सकुशल पहुंची हूं। प्रदेश सरकार के साथ ही पुलिस प्रशासन के इंतजामों की मैं सराहना करती हूं। सभी को आभार व धन्यवाद।

रुद्रप्रयाग निवासी संजय का कहना है कि वह बंगलुरु में होटल में काम करता था। लॉकडाउन में लंबे समय से फंसे थे। जब मालूम हुआ कि उत्तराखंड सरकार ने प्रवासियों को लाने के लिए विशेष ट्रेन का इंतजाम किया है। खुशियों का ठिकाना नहीं रहा। प्रदेश सरकार की इस कोशिश की सराहना करता हूं।  

यह भी पढ़ें: Coronavirus: सूरत और राजस्थान से आए गढ़वाल के प्रवासियों को भेजा गृह जनपद

देहरादून के नीरज के मुताबि, प्रवासियों के लिए श्रमिक स्पेशल का संचालन सरकार की अच्छी पहल है। लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों को निश्शुल्क उनके घरों तक पहुंचाने के लिये मैं प्रदेश सरकार का आभारी हूं। अच्छे इंतजाम के लिये रेलवे प्रशासन का भी बहुत-बहुत धन्यवाद। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: बिना अनुमति उत्तराखंड आ रहे प्रवासियों की ट्रेस हुई कॉन्टेक्ट हिस्ट्री

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस