मसूरी, [जेएनएन]: राज्यसभा सांसद और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी ने कहा कि मसूरी से पर्यटकों और पर्यटन के लिए गलत संदेश नहीं जाना चाहिए, यहां जाम एक विकट समस्या बन चुका है, जिसका समाधान जरूरी है। साथ ही उन्होंने राजनीति से वीआइपी कल्चर को खत्म करने पर जोर दिया। 

राज्यसभा सांसद बनने के बाद पहली बार मसूरी आए अनिल बलूनी ने भाजपा मंडल की ओर से उनके सम्मान में आयोजित समारोह को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मसूरी आते हुए उनको यहां जाम में फंसना पड़ा, और यह यहां के पर्यटन के लिए ठीक नहीं है। कहा कि वे मसूरी आकर यहां की बेहतरी के लिए प्रबुद्ध नागरिकों के साथ विचार-मंथन करना चाहते थे, लेकिन जाम में फंसने के कारण ऐसा नहीं हो पाया। अब राजनीति करने वालों को स्वयं को बदलना होगा, क्योंकि अब उनको स्वयं को बदलने का समय आ गया है और समय की भी यही मांग है। 

राजनेताओं को वीआइपी कल्चर से बाहर आने के लिए स्वयं से ही प्रयास करने होंगे। कहा कि उन्होंने भी जेड सुरक्षा लेने से इंकार कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि मसूरी व नैनीताल को बचाना बेहद जरूरी है। यह दोनों उत्तराखंड ही नहीं, देश के प्रमुख पर्यटन नगर हैं और यहां से गलत संदेश गया तो उससे यहां का पर्यटन प्रभावित हो सकता है। जिन सपनों व उम्मीदों को लेकर उत्तराखंड राज्य बनाया गया था उन पर अभी हम खरा नहीं उतरे हैं। लेकिन, अभी भी समय है, गलतियों को सुधारा जा सकता है। 

इस मौके पर सांसद अनिल बलूनी ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। कहा कि उनकी पार्टी सेना के खिलाफ बयान देकर जनता को गुमराह कर रहे हैं, जिससे सेना के मनोबल पर असर पड़ रहा है। इस मौके पर मसूरी विधायक गणेश जोशी, पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल ने मसूरी में स्वास्थ्य, पेयजल, पार्किंग व पर्यटन स्थलों के विकास की समस्याओं से सांसद बलूनी को अवगत करवाया। साथ ही टैक्सी यूनियन सचिव सुंदर सिंह पंवार ने टैक्सी वाहनों में स्पीड गवर्नर की अनिवार्यता खत्म करने की मांग की।

इससे पहले सांसद अनिल बलूनी के मसूरी पहुंचने पर भाजपा मसूरी मंडल की ओर से उनका मसूरी विधायक गणेश जोशी, पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल, भाजपा मंडलाध्यक्ष मोहन पेटवाल, महामंत्री कुशाल राणा, भाजपा युवामोर्चा अध्यक्ष राकेश रावत, धर्मपाल पंवार आदि ने फूल मालाओं व पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

यह भी पढ़ें: हरीश रावत का वर्ष 2019 के चुनावी समर में उतरने का ऐलान

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस की नई कार्यकारिणी गठन पर बढ़ी रार