देहरादून, जेएनएन। आज बालिका दिवस है। दून की बेटियां हर क्षेत्र में चमक बिखेर रही हैं। फिर चाहे क्षेत्र बॉलीवुड का हो या फिर सामाजिक क्षेत्र। हर क्षेत्र में बालिकाएं आज किसी से कम नहीं हैं। 

दून की स्वाति सेमवाल जहां निर्देशन के क्षेत्र में रोजाना कामयाबी की उड़ान भर रही हैं, वहीं चित्राशी रावत पर्दे के आगे कमाल कर रही हैं। दून की ही प्रियंका कंडवाल एक्टिंग के बाद अब टिकटॉक की नई स्टार बनकर उभरी हैं। उन्हें टिकटॉक की मधुबाला तक कहा जाने लगा है। वहीं, मिस ग्रैंड इंटरनेशनल अनुकृति गुसाईं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम कर रही हैं। 

जो मन में आए, पूरे विश्वास के साथ करें

अभिनेत्री चित्राशी रावत के अनुसार, मैं तो बस यहीं कहना चाहूंगी कि जो भी आपके मन में आए, पूरे विश्वास के साथ करें। किसी से भी घबराने की आवश्यकता नहीं है। यदि आप बॉलीवुड में अपना कॅरिअर बनाना चाहती हैं तो आपमें आत्मविश्वास का होना चाहिए। यह मानकर चलिए कि आपके लिए हर दिन बालिका दिवस है। 

लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाना लक्ष्य

मिस ग्रैंड इंटरनेशनल अनुकृति गुसाईं के मुताबिक, आज लड़कियां और महिलाएं किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं। बस उन्हें उचित मार्गदर्शन मिलना जरूरी है। लड़कियों और महिलाओं के लिए आत्मनिर्भर होना जरूरी है। यदि वे आत्मनिर्भर हैं तो उन्हें कभी किसी के आगे झुकना नहीं पड़ेगा

यह भी पढ़ें: सिंगर जुबिन नौटियाल बोले, 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान को बनाएं सफल Dehradun News

हर क्षेत्र आपका है, बस विश्वास से कदम बढ़ाएं

टिकटॉक की मधुबाला कही जाने वाली अभिनेत्री प्रियंका कंडवाल कहती हैं कि मैं तो बस यही कहना चाहूंगी कि गर्ल्स क्षेत्र आपका है, बस विश्वास के साथ दो कदम आगे बढ़ाएं। कामयाबी आपकी राह देख रही है। 

यह भी पढ़ें: दैनिक जागरण के डांडिया रास-2019: गुलाबी शाम, डांडिया रास में झूमा खासो-आम

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप