देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड में मौसम ने फिर करवट बदली। समूचे उत्तराखंड में बादलों ने डेला डाल लिया। कई स्थानों पर हल्की बूंदाबांदी का दौर भी शुरू हो चुका है। वहीं, बदरीनाथ-केदारनाथ सहित ऊंची चोटियों में बर्फबारी से मैदानी इलाकों में सर्दी बढ़ गई। मौसम विभाग के साथ ही प्रशासन ने सर्दी को देखते हुए आरेंज अलर्ट जारी किया है।  

गुरुवार की सुबह देहरादून के कई इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई। वहीं, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, कुमाऊं के पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, बागेश्वर भी भी हल्की बूंदाबांदी से सर्दी बढ़ गई। पिथौरागढ़ की ऊंची चोटियों के साथ ही केदारनाथ में रात भर हिमपात होता रहा। बर्फबारी का यह दौर जारी है। 

मौसम विभाग के मुताबिक राज्य 13 दिसंबर को भी मौसम के तेवर तल्ख रहेंगे। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में भारी हिमपात की संभावना है। इन स्थानों के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है। 

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह का कहना है कि अधिक बर्फबारी के कारण 2000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में सड़कें अवरुद्ध होने और फिसलन होने की संभावना है। साथ ही मैदानी इलाकों में 13 और 14 दिसंबर को शीत दिवस होने की संभावना है। प्रशासन को सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है। 

दून में भी सुबह और शाम को ठंडी हवा परेशान कर रही है। तापमान में गिरावट के कारण रात के समय अधिक ठंड महसूस की गई। दून का अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम 7.8 डिग्री सेल्सियस रहा। 

विभागों को सतर्क रहने के निर्देश

मौसम विभाग की ओर से भारी बर्फबारी और बारिश के अलर्ट को देखते हुए देहरादून जिला प्रशासन ने भी संबंधित विभागों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने संबंधित विभागों के साथ ही लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनपद में बर्फबारी वाले क्षेत्रों में बर्फबारी से बाधित होने वाले मोटर मार्गों को सुचारु रखने के लिए जेसीबी तैनात रखें और जेसीबी चालकों के फोन नंबर, उनके तैनाती स्थल संबंधी जानकारी जिला आपदा कंट्रोल रूम को दे दें। 

जिलाधिकारी ने नगर निगम एवं नगर पालिका परिषद के क्षेत्रों को में अलाव जलाने के निर्देश दिए हैं। अपर जिलाधिकारी प्रभारी अधिकारी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण बीर सिंह बुदियाल ने बताया कि जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से गांधी आश्रम से 400 कंबल क्रय कर जनपद की सभी तहसीलों को  निराश्रितों को वितरित करने के लिए भेज दिए गए हैं। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अगले दो दिन मौसम के तेवर रहेंगे तल्ख, बारिश और भारी बर्फबारी की चेतावनी 

उन्होंने अवगत कराया कि नगर निगम क्षेत्र देहरादून में 10, नगर निगम ऋषिकेश क्षेत्र में पांच, नगर पालिका परिषद विकासनगर में 11, नगर पालिका परिषद हरबर्टपुर में पांच नगर पालिका परिषद मसूरी में पांच और नगर नालिका परिषद डोईवाला में 10 स्थानों पर अलाव जलाए जाते हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 12 और 13 दिसंबर को भारी बर्फबारी और बारिश की चेतावनी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस