देहरादून, राज्य ब्यूरो। उत्तराखंड क्रांति दल भाजपा व कांग्रेस को उत्तराखंड से उखाड़ने के लिए दो फरवरी को प्रदेश के धार्मिक स्थलों पर धरना देगा।

यह जानकारी देते हुए उक्रांद के केंद्रीय प्रवक्ता सुनील ध्यानी ने बताया कि दल भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ जनजागरण अभियान चला रहा है। प्रदेश कांग्रेस व भाजपा की जनविरोधी नीतियों का शिकार हुआ है। 

उन्होंने कहा कि दोनों ही दल उत्तराखंड के हितैषी नहीं हैं। स्थायी राजधानी के मुद्दे को जहां पिछली कांग्रेस सरकार ने उलझाए रखा, वहीं, भाजपा भी इस मामले में एक कदम आगे नहीं बढ़ी। 

उन्होंने बताया कि इन दोनों दलों को जड़ से उखाडऩे के लिए दो फरवरी को प्रदेश के सभी प्रमुख धार्मिक स्थानों पर दल एक दिवसीय धरना देगा। इसके तहत बागेश्वर में दल के संरक्षक काशी सिंह ऐरी, जागेश्वर में पुष्पेश त्रिपाठी, नानकमत्ता में सरदार हरजाप सिंह, नैना देवी, नैनीताल में डॉ. नारायण सिंह जंतवाल, केदारनाथ में बीडी रतूड़ी, बदरीनाथ में त्रिवेंद्र सिंह पंवार व पिरान कलियर में दिवाकर भट्ट के नेतृत्व में धरना दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: जन समस्याओं को लेकर कांग्रेसियों ने नगर निगम में बोला हल्ला 

यह भी पढ़ें: जीत का मंत्र फूक अमित शाह देवभूमि में करेंगे चुनावी शंखनाद

यह भी पढ़ें: श्रम संगठनों को कुचलना चाहती है सरकारः हीरा सिंह बिष्ट

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस