देहरादून, विकास धूलिया। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह देहरादून में संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं के लिए आयोजित त्रिशक्ति सम्मेलन के जरिये देवभूमि में चुनावी शंखनाद करेंगे। पिछले पांच साल से उत्तराखंड में लगभग अपराजेय भाजपा के लिए लोकसभा चुनाव में अपना प्रदर्शन दोहराना ही सबसे बड़ी चुनौती है, लिहाजा पार्टी नेतृत्व अपनी ओर से कोई कोर कसर बाकी नहीं रहने देना चाहता। 

यही नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड के प्रति लगाव जग जाहिर है, ऐसे में राज्य की पांचों लोकसभा सीटों पर अपना कब्जा बरकरार रखने को भाजपा नेतृत्व अलर्ट है। इसमें किसी भी स्तर पर ढील न हो, लिहाजा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह खुद शनिवार को देहरादून में जमीनी स्तर पर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ ही अन्य स्तरों से लोकसभा चुनाव की तैयारी का फीडबैक लेंगे। 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शनिवार दो फरवरी को देहरादून में टिहरी व हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र के त्रिशक्ति सम्मेलन को संबोधित करेंगे। दरअसल, देहरादून का अधिकांश हिस्सा टिहरी लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत है जबकि हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र की तीन विधानसभा सीट भी देहरादून जिले में ही स्थित हैं। 

इसी कारण देहरादून को राज्य में पहले त्रिशक्ति सम्मेलन के लिए चुना गया। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने पांचों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी। इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 70 में से 57 सीटें जीत इतिहास रचा। 

अब पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में अपने इस जनाधार को कायम रखना चाहती है और इसी के मद्देनजर चुनावी रणनीति को अंजाम दिया जा रहा है। अब जबकि लोकसभा चुनाव के लिए बस डेढ़-दो महीने का ही वक्त शेष है, भाजपा अध्यक्ष राजधानी देहरादून आकर एक तरह से चुनावी शंखनाद करने जा रहे हैं। शाह लगभग सात महीने बाद देहरादून आ रहे हैं। 

हालांकि, मौका त्रिशक्ति सम्मेलन का है, लेकिन तय है कि वह इस दौरान पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से पार्टी की स्थिति के बारे में फीडबैक भी लेंगे। लोकसभा चुनाव के लिए प्रदेश भाजपा की तैयारियों का जायजा लेने के साथ ही वह पिछले साल दून दौरे के दौरान दिए गए लक्ष्यों को लेकर रिपोर्ट भी तलब कर सकते हैं। सरकार के कामकाज और केंद्र की योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर भी पूरा लेखा-जोखा तैयार किया गया है। 

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश भाजपा ने पांचों लोकसभा सीटों से संबंधित होमवर्क पूरा कर लिया है। इसके लिए सीटवार आंकड़े तैयार किए गए हैं। पार्टी की चुनावी रणनीति की समीक्षा के साथ ही सभी सीटों पर पार्टी का वर्चस्व बरकरार रखने के मद्देनजर जीत का मंत्र भी शाह देंगे। 

शक्ति प्रदर्शन का भी मौका देहरादून 

त्रिशक्ति सम्मेलनों के जरिये भाजपा के लोकसभा सीटों के दावेदार अपनी शक्ति का प्रदर्शन करने की भी तैयारी में हैं। दून के पहले सम्मेलन में टिहरी व हरिद्वार लोकसभा सीटों के दावेदार अपना दम दिखाएंगे। हालांकि दोनों सीटों पर सिटिंग सांसद भाजपा के ही हैं लेकिन इसके बावजूद टिकट के तलबगार नेताओं की तादाद भी खासी है। सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक हरिद्वार के लिए तो सांसद महारानी माला राज्यलक्ष्मी शाह, विधायक मुन्ना सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा टिहरी सीट के लिए मुख्य दावेदारों में शामिल हैं। 

पांच लोस सीटों के लिए चार सम्मेलन देहरादून 

प्रदेश भाजपा राज्य की पांच लोकसभा सीटों के लिए राज्यभर में कुल चार त्रिशक्ति सम्मेलन आयोजित करने जा रही है। पहला सम्मेलन दो फरवरी को देहरादून में होगा जबकि पौड़ी, अल्मोड़ा व नैनीताल संसदीय क्षेत्रों के त्रिशक्ति सम्मेलन 10 फरवरी तक आयोजित किए जाएंगे। इन सम्मेलनों के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह (सेवानिवृत्त) ने सहमति दे दी है। 

आरएसएस से ले सकते हैं फीडबैक 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह देहरादून दौरे के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सरकार और संगठन को लेकर फीडबैक ले सकते हैं। हालांकि, इसके लिए किसी बैठक का समय तय नहीं है, लेकिन माना जा रहा कि देहरादून पहुंचने पर वह संघ के नेताओं से मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें: श्रम संगठनों को कुचलना चाहती है सरकारः हीरा सिंह बिष्ट

यह भी पढ़ें: भाजपा के त्रिशक्ति सम्मेलन की तैयारी पूरी, लगाई जाएगी विकास प्रदर्शनी 

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव की जमीन को मजबूत करने में जुटे सांसद निशंक

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस