देहरादून, जेएनएन। पुलवामा हमले की पहली बरसी पर सीआरपीएफ के दून स्थित सेक्टर मुख्यालय में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस दौरान शहीद एएसआइ मोहन लाल रतूड़ी की पत्नी को भी सम्मानित किया गया।

बीते वर्ष 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था। जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। इनमें उत्तरकाशी बनकोट गांव के मूल निवासी मोहन लाल रतूड़ी भी शाहीद हुए थे। रतूड़ी का परिवार कांवली रोड पर एमडीडीए कॉलोनी में रहता है। शहादत को एक वर्ष पूरा होने पर सीआरपीएफ के हरिद्वार बाईपास स्थित सेक्टर मुख्यालय में श्रद्धांजलि सभा हुई। यहां शहीद मोहन लाल रतूड़ी की पत्नी सरिता रतूड़ी ने भी शहीदों ने श्रद्धांजलि दी। इस दौरान राज्य सहकारी संघ के अध्यक्ष बृजभूषण गैरोला बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में शामिल हुए।

उन्होंने कहा कि कोई भी देश तब तक सुरक्षित है, जब तक वीर जवान अपने प्राणों की बाजी लगा उसकी सेवा में तत्पर हैं। सीमा पर तैनात वीर सैनिक अपने प्राणों की परवाह न करते हुए हर पल अपने कर्तव्य का पालन कर रहे हैं। ऐसे वीर जवानों की शहादत के लिए स्वयं ही हम नतमस्तक हो जाते हैं और मन श्रद्धा से भर जाता है। कहा कि हमें इन वीरों की शहादत को हमेशा हृदय में समाहित रख कर स्वयं भी अपने देश के प्रति कुछ कर्तव्य निभाने का साहस हमें रखना चाहिए। शहीदों के परिवारजनों के साथ सदैव कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने का प्रण लेना चाहिए। 

सीआरपीएफ के डीआइजी दिनेश उनियाल ने कहा कि सशस्त्र बलों ने इस घटना को सबक के तौर पर लिया है। कहा कि इसके बाद न केवल सेना और अर्द्ध सैन्य बलों के बीच सामंजस्य बेहतर हुआ बल्कि सशस्त्र बलों व आम जन के बीच भी फासला कम हुआ है। पुलवामा हमले के बाद जिस एकजुटता के साथ देश खड़ा हुआ उसने जवानों को भी हौसला दिया है। उन्होंने कहा कि 14 फरवरी को लोग किसी न किसी को अपना मानकर वेलनटाइन डे मनाते हैं। कहा कि इसे मनाने वाले शहीद को अपना मानकर यह दिन मनाएं तो यह देश के लिए गर्व की बात होगी। शहीद रतूड़ी के दामाद सर्वेश नौटियाल ने कहा कि शहादत के बाद शहीद रतूड़ी के परिवार को जो सम्मान और दुख की इस घड़ी में आगे बढऩे में सहयोग मिला, इसके लिए वह सभी के आभारी हैं। श्रद्धांजलि सभा का समापन शहीदों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रख किया गया। 

श्रद्धांजलि सभा में डीआइजी विमल बिष्ट, कमांडेंट किशोर प्रसाद, कमांडेंट संजीव रंजन, सहायक कमांडेंट संतोष सुमन समेत बड़ी संख्या में सीआरपीएफ अफसर, आसपास के अन्य दफ्तरों के अधिकारी-कर्मचारी, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज अजबपुर के शिक्षक और छात्र व क्षेत्रीय लोग शामिल रहे।

शहीदों को नम आंखों से किया याद 

पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी पर दून ने शहीदों को नम आंखों से याद किया। हर आम और खास ने देश पर जान न्योछावर करने वाले सीआरपीएफ के 40 जवानों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान शहर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। 

श्रद्धा सुमन अर्पित 

मसूरी विधायक गणेश जोशी के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने गढ़ी कैंट स्थित शहीद स्थल पर अमर शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। विधायक ने कहा कि आज ही के दिन पुलवामा हमले मेंसीआरपीएफ के 40 जवानों ने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे। शहीदों की याद में देश का प्रत्येक व्यक्ति गमगीन है और देश की जनता शहीदों के हर सुख-दुख में उनके साथ खड़ी है। इस अवसर पर भाजपा के मंडल अध्यक्ष राजीव गुरुंग, दर्जाधारी टीडी भूटिया, विष्णु गुप्ता, वंदना बिष्ट, अनुराग सिंह, सभासद मेघा भट्ट, प्रभा शाह, नीतू बिष्ट आदि उपस्थित रहे।

1100 दीये जलाए

हिंदू युवा वाहिनी ने गांधी पार्क गेट पर 1100 दीये जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। प्रदेश अध्यक्ष गोविंद वाधवा ने कहा कि भारत भूमि ने अपने 40 वीर सैनिकों को खोकर जो गहरा आघात झेला है उसे भूलना मुश्किल है। इस घटना के बाद देशभर में देशभक्ति का जज्बा व गुस्से का गुब्बार नजर आया था। इस आतंकी घटना का बदला एयर स्ट्राइक से लिया गया। इस दौरान प्रदेश महासचिव सतेंद्र चौहान, उपाध्यक्ष सुमित सिंघल आदि उपस्थित रहे। उधर, श्री पृथ्वीनाथ महादेव जी मंदिर सेवा दल, नेताजी संघर्ष समिति व अग्रवाल समाज ने अग्रवाल धर्मशाला में दीप प्रज्जवलित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। जिसमें तमाम राजनीतिक, धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं ने हिस्सा लिया। 

मातृभूमि रक्षा संकल्प दिवस मनाया 

पुलवामा हमले की पहली बरसी पर स्वदेशी जागरण मंच ने मातृभूमि रक्षा संकल्प दिवस मनाया। गांधी पार्क के मुख्य द्वार पर लगाए पोस्टर पर सैकड़ों लोगों ने हस्ताक्षर कर शहीदों को नमन किया। महानगर संयोजक हितेश कुमार सिंह ने कहा कि शहीदों ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। उनकी याद में हमें मातृभूमि रक्षा संकल्प दिवस मनाना चाहिए। यही वीर शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। अपनी संस्कृति की रक्षा की अपील भी लोगों से की। इस दौरान आयुषी गुप्ता, अर्चना आनंद, आधार वर्मा, सन्नी, होशियार सिंह, सचिन गुप्ता आदि मौजूद रहे।

निष्ठा से करें हर कार्य 

केंद्रीय विद्यालय भारतीय सैन्य अकादमी परिवार ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। प्रार्थना सभा में प्रधानाचार्य मामचंद ने उत्तराखंड के शहीदों की तस्वीरों पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। कहा कि शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हर कार्य निष्ठा और मेहनत से किया जाए। उप प्रधानाचार्य संदीप त्यागी एवं मुख्य अध्यापक सुधीर जैन ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि दी। शिक्षक पीयूष निगम ने कवि रामधारी सिंह दिनकर की कविता कलम आज उनकी जय बोल को गीत के रूप में प्रस्तुत किया। 

शहीदों की याद में जलाए कैंडल

भाजपा अंबेडकरनगर मंडल के अध्यक्ष विशाल गुप्ता के नेतृत्व में पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। गांधी पार्क में मोमबत्ती जलाकर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस दौरान महानगर उपाध्यक्ष आशीष नागरथ,महामंत्री विपिन खंडूरी, अरुण खरबंदा, वार्ड अध्यक्ष रमन, खेमचंद, अभिषेक नौटियाल, लव कुमार, मुकेश प्रजापति, जितेंद्र आनंद आदि मौजूद रहे। उधर, भाजपा महानगर अनुसूचित जाति मोर्चा ने सहारनपुर चौक पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने दीप व मोमबत्ती जलाकर नम आंखों से शहीदों को याद किया।

नम आंखों से किया याद

गौरव सेनानी एसोसिएशन ने गणेशपुर स्थित शहीद गजेंद्र सिंह बिष्ट स्मारक पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान शहीद गजेंद्र सिंह बिष्ट की मां भी मौजूद रहीं। वह भावुक होकर रोने लगीं। इस अवसर पर 2 मिनट का मौन भी रखा गया। संगठन के अध्यक्ष महावीर राणा,उपाध्यक्ष मनवर सिंह, कोषाध्यक्ष गिरीश जोशी, महासचिव राजेन्द्र कंडारी आदि उपस्थित थे।

बच्चों को बांटी शिक्षण सामग्री 

अपना आसरा वेलफेयर सोसाइटी ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय रेस्ट कैंप में शहीदों को श्रद्धांजलि दी। जिसमें संस्था के सदस्य और छात्र व शिक्षक शामिल हुए। शहीदों की याद में बच्चों को शिक्षण सामग्री व फल भी वितरित किए गए। संस्था के संस्थापक सदस्य विमल कुमार चौधरी, उपाध्यक्ष शालू अग्रवाल ने कहा कि संस्था महापुरुषों व शहीदों की जानकारी नयी पीढ़ी तक निरंतर पहुंचाती रहेगी। 

कैंडल मार्च निकाला 

जनक्रांति विकास मोर्चा ने युवा इकाई के महानगर अध्यक्ष केतन सोनकर के नेतृत्व में गांधी पार्क से घंटाघर स्थित इंद्रमणी बडोनी की प्रतिमा तक मार्च कैंडल मार्च निकाला। जहां श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। जिसमें युवा इकाई के जिलाध्यक्ष रोहित रावत, अमित जैन, सुरेश नेगी आदि ने विचार रखे। दुग्ध विकास समिति ने अपने कार्यालय पर श्रद्धांजलि सभा आयोजित की। समिति के अध्यक्ष अरविंद कुमार गुप्ता सहित अन्य लोगों ने शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

यह भी पढ़ें: इसी जज्बे से सलामत हैं हमारे देश की सरहदें, पढ़िए पूरी खबर

संस्कार व संस्कृति का संवर्धन 

हिंदू जागरण मंच ने सीआरपीएफ के सेक्टर हेडक्वार्टर में शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। वहीं दिशा सामाजिक संस्था ने भी पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। संस्था के सचिव सुशील विरमानी व उपाध्यक्ष प्रभात डंडरियाल ने लोगों से अपने संस्कार व संस्कृति के संवर्धन की अपील की।

यह भी पढ़ें: शहीदों के घर की मिट्टी बिखेरेगी राष्ट्रीय एकता की खुशबू

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस