देहरादून, जेएनएन। देश के टॉप इंजीनियर्स उत्तराखंड के बीटेक के छात्रों को पहली बार ऑनलाइन इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग देंगे। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार बीटेक के छात्रों की इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग उद्योगों में आयोजित नहीं होगी। यह फैसला भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) ने लिया है। 

बीटेक इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) उत्तराखंड स्टेट सेंटर व नेक्स्ट जेनेरेशन कम्प्यूटिंग टेक्नोलॉजी सोसायटी संयुक्त रूप से कर रही है। ऑनलाइन ट्रेनिंग 15 जुलाई से शुरू हो रही है। विदित रहे कि देशभर में बीटेक के छात्रों को तृतीय वर्ष में अनिवार्य रूप से दो महीने का औद्योगिक प्रशिक्षण लेना होता है। हालांकि इस बार यह प्रशिक्षण अधिकतम एक माह का रखा गया है। द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) उत्तराखंड स्टेट सेंटर के सचिव धर्मचंद अरोड़ा और समन्वयक डॉ. पवन कुमार पारस ने बताया कि ऑनलाइन ट्रेनिंग के अलावा आइएसबीटी के समीप संस्थान में पांच लाख रुपये की लागत से अत्याधुनिक स्किल डेवलपमेंट लैब तैयार की गई है। 
छात्रों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये यहां से जानकारी दी जाएगी। इसलिए अहम है दून में ट्रेनिंग उत्तराखंड में करीब 30 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं बीटेक में अध्ययनरत हैं। जिन संस्थान में बीटेक है उनमें आइआइटी रुड़की, एनआइटी श्रीनगर गढ़वाल, जीबी पंत विवि पंतनगर, जीबी पंत इंजीनियरिंग कॉलेज पौड़ी, डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्रौद्योगिकी संस्थान चंपावत प्रमुख हैं। साथ ही ग्राफिक एरा, यूपीईएस, उत्तरांचल विवि, डीआइटी विवि, आइएमएस यूनिसन में भी बीटेक की पढ़ाई होती है। ये सभी छात्र दून से आसानी से ट्रेनिंग ले सकते हैं। 
इन पांच मॉड्यूल की होगी ट्रेनिंग 
इलेक्ट्रॉनिक डिजाइन, अरडियूनो डिजाइन, रोबोटिक्स डिजाइन, बेसिक फंडामेंटल डिजाइन और एडवांस फंडामेंटल डिजाइन। 
यहां करें आवेदन: ईमेल- uttarakhandsc@gmail.com
वेबसाइट- www.ieiuksc.com 
आइईआइ उत्तराखंड स्टेट सेंटर के चेयरमैन एके दिनकर ने बताया कि द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) उत्तराखंड स्टेट सेंटर बीटेक के छात्रों को ऑनलाइन इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग देगा। ऑनलाइन ट्रेनिंग संस्थान में देशभर के टॉप सीनियर इंजीनियर्स, उद्यमी, स्टार्टअप, एनआइटी, आइआइटी फैकल्टी एक महीने का प्रशिक्षण देगी। उसके बाद एक महीने का प्रोजेक्ट वर्क होगा।
इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन उत्तराखंड परिष द के चेयरमैन राकेश भाटिया ने बताया कि बीटेक के छात्रों को अनिवार्य रूप से इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग करनी होती है। उद्योगों में आकर छात्र-छात्राएं मशीनरी से लेकर प्रोडक्शन का अध्ययन करते हैं। इस बार कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनिंग को ऑनलाइन कर दिया गया है। छात्र-छात्राएं पिछले करीब चार महीने से ऑनलाइन पढ़ रहे हैं इसलिए उन्हें दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस