देहरादून, जेएनएन। कैंट क्षेत्र में अगले साल होने वाले चुनाव के पहले चरण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। छावनी परिषद देहरादून में कौन से वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे, इसका फैसला पांच दिसंबर को लॉटरी से होगा।

बता दें कि छावनी परिषद देहरादून प्रदेश में ए श्रेणी का एकमात्र कैंट है। इसके तहत गढ़ी-डाकरा व प्रेमनगर क्षेत्र के आठ वार्ड हैं। इनमें तीन वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगे। अगले वर्ष 10 फरवरी को देशभर की 56 छावनियों का पांच साल का कार्यकाल पूरा हो रहा है। इसके बाद उत्तराखंड में स्थित नौ छावनी परिषदों में भी सभासदों के लिए चुनाव होंगे। इससे पहले छावनियों में आरक्षण निर्धारित किया जाना है। रक्षा मंत्रालय ने आगामी 10 दिसंबर तक वार्डों में एससी/एसटी और 24 दिसंबर तक महिला आरक्षण की प्रक्रिया पूरी कर रिपोर्ट मांगी है। इसके बाद चुनाव की तिथियों का एलान होगा।

कैंट इलेक्शन एक्ट के अनुसार महिला वार्ड का चयन जनता के सामने पर्ची सिस्टम से होता है। ए श्रेणी के कैंट बोर्ड में छावनी परिषद के अध्यक्ष लॉटरी प्रक्रिया से महिलाओं के लिए तीन वार्डों का निर्धारण करेंगे। अभी छावनी परिषद देहरादून में वार्ड नंबर छह, सात और आठ महिला आरक्षित हैं। ये वार्ड इस बार लॉटरी में शामिल नहीं होंगे। इस बार वार्ड नंबर एक, दो, चार व पांच में पर्ची निकाली जाएगी। इन चार वार्ड में से कोई तीन महिलाओं के लिए आरक्षित हो जाएंगे। इसके अलावा वार्ड नंबर तीन एससी/एसटी के लिए आरक्षित है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand panchayat election: नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों और पंचायत सदस्यों ने ली शपथ

क्लेमेनटाउन कैंट में दो वार्ड होंगे महिला आरक्षित

शहर के दूसरे कैंट बोर्ड क्लेमेनटाउन में सात वार्ड हैं। इनमें दो वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे। वर्तमान में यहां वार्ड नंबर छह व सात महिलाओं के लिए आरक्षित हैैं। बताया गया कि इस बार वार्ड नंबर एक, दो व पांच में कोई दो वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे। वहीं, वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार एससी/एसटी वर्ग के लिए भी वार्ड आरक्षित होगा। एससी/एसटी आरक्षण को लेकर गुरुवार को क्लेमेनटाउन कैंट बोर्ड की विशेष बैठक बुलाई गई है।

 यह भी पढ़ें: सेलाकुई पछवादून ट्रक ऑनर्स वेल्फेयर एसोसिएशन के चुनाव में गुलफाम अध्यक्ष और चंद्रकिशोर बने सचिव

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस