देहरादून, राज्य ब्यूरो। जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और क्षेत्र पंचायत प्रमुख, ज्येष्ठ व कनिष्ठ उपप्रमुखों के चुनाव में भाजपा को अपनों की बगावत से दो-चार होना पड़ रहा है। इस पर पार्टी ने सख्त रूख अपनाते हुए विभिन्न जिलों में क्षेत्र पंचायत प्रमुख पदों पर पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे चार क्षेत्र पंचायत सदस्यों समेत सात कार्यकर्ताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। इनमें रामनगर क्षेत्र से विधायक दीवान सिंह बिष्ट की बहू श्वेता बिष्ट भी शामिल हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के अनुसार जिन क्षेत्र पंचायत सदस्यों को पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ने पर पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया है उनमें श्वेता बिष्ट, रवि कन्याल (नैनीताल), विक्रम बगडवाल (अल्मोड़ा) व रागिनी भट्ट (टिहरी) शामिल हैं। 

इनके अलावा पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ाने पर जगमोहन बिष्ट, सतीश नैनवाल व प्रमोद नैनवाल (नैनीताल) को भी पार्टी से तत्काल प्रभाव से निष्कासित किया गया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी में अनुशासन सर्वोपरि है और अनुशासन से पार्टी ने कभी समझौता नहीं किया। इसी क्रम में यह कार्रवाई की गई है।

काऊ ने रायपुर में खिलाया कमल

रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ ने कांग्रेस को एक बार राजनैतिक पटखनी दी है। उन्होंने दिव्या भारती को निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित करा दिया है। रायपुर ब्लॉक में ब्लॉक प्रमुख पद पर दिव्या भारती और निर्मला दो दावेदार थीं। कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस इस सीट पर जीत हासिल कर लेगी।

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनावः नाम वापसी के बाद सात ब्लाक प्रमुख निर्विरोध हुए निर्वाचित

अधिकांश क्षेत्र पंचायत सदस्य निर्दलीय व कांग्रेस समर्थित थे। इससे कांग्रेस का पलड़ा भारी था। इधर विधायक उमेश शर्मा काऊ ने राजनैतिक कौशल दिखाते दिव्या भारती को निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित करा दिया है। ऐसे में रायपुर ब्लॉक में कमल खिल गया है।

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ उपचुनावः भाजपा को वॉकओवर नहीं देगी कांग्रेस, अंजु लुंठी पर खेलेगी दांव

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप