देहरादून, जेएनएन। लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद हार के कारणों को तलाशने के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को बैठक हुई। जिसमें सेवादल को आमंत्रित नहीं किया गया, जिससे सेवादल के पदाधिकारी नाराज हैं। 

उत्तराखंड महिला सेवादल की अध्यक्ष हेमा पुरोहित ने नाराजगी व्यक्त करते हुए बताया कि कांग्रेस कार्यालय में महत्वपूर्ण बैठक आयोजित हुई, जिसका मुख्य एजेंडा पांचों संसदीय सीटों पर हार के कारणों को ढूंढना और आगामी चुनाव की रणनीति तैयार करना था। लेकिन, खेद का विषय है कि उत्तराखंड में कांग्रेस के बड़े नेताओं ने अपने ही अनुशांगिक संगठन कांग्रेस सेवादल के पदाधिकारियों को बैठक में शामिल करने से परहेज किया। जबकि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अजमेर में हुए महाअधिवेशन में सेवादल के महत्व को समझते हुए प्रशंसा की थी और कहा था कि सेवादल हर राज्य में अग्रिम पंक्ति में खड़ा रहेगा।

जबकि, बुधवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का जन्म दिवस भी है ऐसे में ठीक एक दिन पहले कांग्रेस सेवादल को उत्तराखंड के कांग्रेस के बड़े नेताओं द्वारा महत्व नहीं दिया जाना निंदनीय है। प्रदेश अध्यक्ष महिला कांग्रेस सेवादल होने के नाते उन्होंने व सेवादल के सभी पदाधिकारियों ने नाराजगी व्यक्त की। 

यह भी पढ़ें: अब विधानसभा अध्यक्ष और दायित्वधारी के बीच विवाद, भाजपा करेगी जांच

यह भी पढ़ें: कमिश्नरी की स्वर्णजयंती पर 29 जून को पौड़ी में कैबिनेट बैठक

यह भी पढ़ें: अब कांग्रेस ने लिया 2022 की चुनौती को एकजुट होने का संकल्प

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस