ऋषिकेश, जेएनएन। आइडीपीएल से सटे कृष्णा नगर कॉलोनी के वासियों की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। नगर निगम में इसे शामिल करने का प्रस्ताव शासन में विचाराधीन है यहां 200 परिवारों के लिए पांच हैंडपंप तो लगा दिए गए। इन हैंडपंपों पर मोटर लगाकर लोगों के घरों में कनेक्शन देने की योजना बनाई गई थी। मगर, अब तक कनेक्शन नहीं दिए गए हैं। एक परिवार को एक बाल्टी भरने में घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। इस दौरान शारीरिक दूरी का उल्लंघन लोगों की मजबूरी हो गई है।

कृष्णा नगर कॉलोनी के लोगों को पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जल निगम ने व्यापक सर्वे करने के बाद 447.07 लाख रुपए का प्राकलन तैयार कर तकनीकी सलाहकार समिति को भेजा गया था। इस पर अभी स्वीकृति नहीं मिली है। योजना शुरू होने से पहले यहां के लोगों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए जल निगम ने पांच हैंडपंप यहां लगा दिए थे। यहां रहने वाले करीब 200 परिवारों से जल संस्थान ने अस्थायी कनेक्शन के लिए आवश्यक प्रपत्र मांगे गए थे। सहायक अभियंता जल संस्थान ने टीम के साथ क्षेत्र का भ्रमण भी किया था। बावजूद इसके लोगों को अस्थायी कनेक्शन नहीं मिले हैं। हैंडपंप में भीड़ लगी रहती है। एक बाल्टी भरने में घंटों इंतजार करना पड़ रहा है।

कहीं लो प्रेशर तो कहीं आ रहा दूषित पानी

वार्ड संख्या 39 इंदिरानगर व वार्ड संख्या 38 नेहरूग्राम में पिछले दो सप्ताह से दूषित पानी की आपूर्ति हो रही है। लोग उबाल कर पानी पीने को मजबूर हैं। बुधवार को जब पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट को इसकी सूचना मिली तो उन्होंने जल संस्थान के अधिकारियों को समस्या से अवगत कराया। जिसके बाद सहायक अभियंता मनोज डबराल व अवर अभियंता ¨पकी चंद ने मौके पर पहुंचकर नागरिकों की समस्याएं सुनी। उन्होंने तत्काल क्षेत्र में टैंकर के माध्यम से पेयजल की आपूर्ति सुचारु कराई। स्थानीय निवासी वेदप्रकाश शर्मा, उग्रसेन धीमान, राघवेन्द्र शर्मा, राकेश भटनागर, पंकज कश्यप, रोहित कश्यप, रविन्द्र धीमान, हेमंत ध्यानी, दिनेश शर्मा, महेश शर्मा आदि ने बताया कि इंदिरा नगर क्षेत्र में लो प्रेशर से पानी आ रहा है, जबकि नेहरूग्राम क्षेत्र में दूषित पानी घरों में पहुंच रहा है। अधिकारियों ने जल्द समस्या के समाधान का आश्वासन दिया।

पेयजल संकट से निजात दिलाने की मांग

राजीव गांधी पंचायती संगठन के प्रदेश संयोजक मोहित उनियाल ने मारखम ग्रांट क्षेत्र के विभिन्न ग्रामीण इलाकों में छाए पेयजल संकट से निजात दिलाने की मांग की। जल संस्थान के अवर अभियंता को दिए ज्ञापन में उन्होंने कहा कि बुल्लावाला, झबरावाला, धमरुचक, विस्थापित आदि क्षेत्रों में काफी समय से लोग पानी की समस्या झेल रहे हैं। इस क्षेत्रों में पेयजल समस्या दुरुस्त की जाए। ज्ञापन देने वालों में मारखमग्रांट के पंचायत सदस्य शुभम कांबोज, एनएसयूआइ नगर अध्यक्ष आरिफ अली, युवा कांग्रेस सोशल मीडिया विधानसभा अध्यक्ष अनुज कन्नौजिया, सतनाम सिंह आदि उपस्थित थे।

अनिल नेगी (जलकल अभियंता ऋषिकेश) का कहना है कि कृष्णा नगर कॉलोनी के लिए जल निगम निर्माण शाखा के द्वारा सर्वे करने के बाद प्राक्कलन शासन को भेजा गया है। वहां हैंडपंप भी जल निगम ने लगाए हैं। इसलिए अस्थायी कनेक्शन भी जल निगम के अधिकार क्षेत्र में है।

यह भी पढ़ें: 2024 से पहले ग्रामीण इलाकों में हर घर को नल से जल

मांगें पूरी न हुई तो एक से देंगे धरना

कृष्णानगर जन कल्याण समिति के मुख्य संरक्षक डॉ. बीएन तिवारी ने इस संबंध में जल निगम और जल संस्थान के अधिशासी अभियंता के साथ काफी पत्रचार किया। उन्होंने बताया कि जल संस्थान ने एक वर्ष के लिए अस्थायी कनेक्शन की सहमति दी थी। मगर, अब कनेक्शन नहीं दिए जा रहे हैं। 30 जून तक यदि मांग पूरी नहीं होती है तो एक जुलाई से क्षेत्रवासी जल संस्थान कार्यालय में धरना देंगे।

यह भी पढ़ें: विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने पेजयल समस्या से प्रभावित गांवों का किया दौरा

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस