देहरादून, जेएनएन। हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में बिजली चोरी रोकने के लिए विद्युत थाने खोलने की तैयारी की जा रही है। ऊर्जा सचिव राधिका झा ने इसके लिए प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया है।

ऊर्जा सचिव ने ऊर्जा निगम की सतर्कता (विजिलेंस) इकाई की समीक्षा बैठक ली। इसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सतर्कता इकाई निवेदिता कुकरेती ने बताया कि बिजली चोरी पर अंकुश लगाने के लिए पिछले चार माह में छापेमारी में 25 फीसद का इजाफा हुआ है। 

इसकी सराहना करते हुए ऊर्जा सचिव ने कहा कि इकाई को उच्च बिजली हानि वाले फीडर के क्षेत्रों में संबंधित विद्युत वितरण खंडों को हरसंभव सहयोग करना चाहिए। कुमाऊं मंडल में अधिशासी अभियंता (सतर्कता) की तैनाती का प्रयास भी किया जाए। 

इसके अलावा उन्होंने निर्देश दिया कि दैनिक छापेमारी और वितरण खंड राजस्व निर्धारण/वसूली के लिए मुख्यालय स्तर पर ऑनलाइन रेड्स मैनेजमेंट सिस्टम लागू किया जाए। सचिव ने प्रबंध निदेशक बीसीके मिश्रा से अपेक्षा की कि सात दिन के भीतर राजस्व वसूली के लिए निगम स्तर पर समीक्षा बैठक की जानी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि सरकारी विभागों के बकाये के लिए विभागाध्यक्षों को रिमाइंडर भेजे जाएं और वित्तीय वर्ष के भीतर वसूली के लिए मुख्य अभियंता वाणिज्य को जिम्मेदारी सौंपी जाए। बैठक में सतर्कता सेल के अपर पुलिस अधीक्षक हरबंस सिंह, महाप्रबंधक (एचआर) केबी चौबे, अधिशासी अभियंता सतर्कता इकाई आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में बिजली महंगी करने की तैयारी, यूपीसीएल ने बढ़ोत्तरी का भेजा प्रस्ताव

सरकारी विभागों के बकाये पर प्रीपेड मीटर से लगेगा अंकुश

ऊर्जा सचिव राधिका झा ने कहा कि जिस तरह से सरकारी विभागों का बिजली बकाया बढ़ता जा रहा है, उसे देखते हुए सभी विभागों में प्रीपेड मीटर लगाए जाने चाहिए। उन्होंने जल्द यह व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

यह भी पढ़े: मुफ्त की बिजली फूंकने पर आरटीआइ क्लब का प्रहार, पढ़ि‍ए पूरी खबर

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस