देहरादून, जेएनएन। कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन में घर से निकलने से बाज नहीं आ रहे लोगों के विरुद्ध पुलिस ने डंडे की कार्रवाई तेज कर दी है। पूरे प्रदेश में लॉकडाउन तोड़ने वालों की जमकर गिरफ्तारी हुई। पूरे सूबे में ऐसे 595 लोग गिरफ्तार किए गए, जो बेवजह सड़कों पर घूम रहे थे। इतना ही नहीं साठ मुकदमे भी दर्ज किए गए। चार दिन में पुलिस 225 मुकदमे दर्ज कर चुकी है और 1265 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस की सख्ती का असर राज्य की सड़कों पर नजर भी आया।

लॉकडाउन को लेकर सरकार की सख्ती, जिलाधिकारियों व पुलिस कप्तानों को सख्त कार्रवाई के आदेश और प्रदेश में सड़कों पर पर्याप्त पुलिस की तैनाती के बाद गुरुवार से स्थिति पर कुछ नियंत्रण दिखा। देहरादून में सुबह दी जा रही ढील में जरूरी सामग्री की दुकानों पर लोगों की भीड़ तो जुटी पर कुछ बाजारों में गोले बनाए जाने से लोग दूरी पर खड़े नजर आए। दस बजे के बाद पुलिस ने सख्ती दिखाई तो सड़कें खालीं दिखीं, मगर शाम को कुछ लोग फिर सड़क पर बेधड़क घूमते नजर आए।

वहीं, हरिद्वार में भी कुछ हालात सुधरे, लेकिन अभी वह स्थिति नहीं बन पाई, जिसकी जरूरत है। लॉकडाउन के दौरान गैरजरूरी काम से निकले कुछ लोगों को पुलिस ने वापस लौटा दिया। वाहनों को सीज किया गया और दुकानदारों के चालान काटे गये। पुलिस ने कईं गर्भवती महिलाओं को अस्पताल पहुंचाया, वहीं बेघर व गरीबों को खाने के पैकेट भी मुहैया कराए। रुड़की में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज किया। 

इसके साथ भगवानपुर में तीन लोगों को हिरासत में लिया गया। भीड़ कम करने को प्रशासन ने मंडी से फल-सब्जियों के पांच टैंपों शहर के विभिन्न वाडोर्ं में भेजे। गढ़वाल मंडल में पुलिस ने लोगों को घर के भीतर रहने की हिदायत दी। सुबह सात से दस बजे तक सब्जी और जरूरी सामान खरीदने के लिए छूट दी गई। कुछ जगह पर पुलिस ने सख्ती भी दिखानी। लॉकडाउन के उल्लंघन पर गोपेश्वर में पुलिस ने बुजुर्ग को उठक बैठक भी करवाई। नई टिहरी में एक दुकान के बाहर कुछ युवकों की भीड़ लगने पर उनकी पुलिसकर्मी से भी झड़प भी हुई। 

पौड़ी, रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी में भी हालात काबू में रहे। वहीं, कुमाऊं मंडल के समस्त जिलों में भी लॉकडाउन सफल रहा। सुबह मिली तीन घंटे की ढील में जरूर कई जगह सोशल डिस्टेंस टूटता दिखा। जरूरी सामान व सब्जी आदि लेने के लिए उमड़ रही भीड़ को पुलिस-प्रशासन को सख्ती से नियंत्रित करना पड़ रहा। अल्मोड़ा में लॉकडाउन के तहत बिना कारण घर से निकलने वाले छह लोगों का चालान काटा गया। बागेश्वर में लॉकडाउन के दौरान गाड़ी चलाने वाले 11 चालकों का एमवी एक्ट में चालान हुआ।

टोकन के हिसाब से एंट्री

निरंजनपुर सब्जी मंडी में भीड़ कम करने को पुलिस व्यवस्था बनाने जा रही है। मंडी समिति की ओर से 200 पास जारी किए गए हैं, वहीं पटेलनगर पुलिस ने वाहन चालकों को पास दिए हैं। पास से ही मंडी के अंदर एंट्री होगी।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown: बेवजह घूम रहे युवक पुलिस के लिए बने सिरदर्द, फटकारी लाठियां

10 बजे के बाद हालात सामान्य

शहर में गुरुवार को सुबह सात से 10 बजे तक आवश्यक दुकानें खुलने तक दुकानों के बाहर काफी भीड़ भाड़ देखी गई, लेकिन 10 बजे के बाद दुकानें बंद कर दी गईं। अनावश्यक बाहर घूमने वालों को पुलिस ने जबरन घर को भेजा।

यह भी पढ़ें: सब इंस्पेक्टर की वर्दी पहन वसूली करने वाला गिरफ्तार Dehradun News

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस