देहरादून, जेएनएन। आइआइएम कोझिकोड ने कैट-2019 के लिए पंजीकरण की आखिरी तारीख बढ़ा दी है। अभ्यर्थी अब 25 सितंबर तक आवेदन कर सकेंगे। जबकि अभी तक अंतिम तिथि 18 सितंबर थी। कैट के परसेंटाइल के गणना की विधि आइआइएम 25 सितंबर को भी जारी करेगा।

बता दें, कैट का आयोजन 24 नवंबर को किया जाएगा। यह तीन घंटे की कम्प्यूटर आधारित परीक्षा होगी। इसमें वर्बल एबिलिटी एंड रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, क्वॉन्टिटेटिव एबिलिटी और डाटा इंटरप्रिटेशन एंड लॉजिकल रीजनिंग तीन सेक्शन होंगे। परीक्षा के ऐडमिट कार्ड 23 अक्टूबर को जारी किए जाएंगे। कैट के लिए आवेदन प्रक्रिया चार चरण में पूरी होगी। पहले चरण में पंजीकरण कराना होता है। पंजीकरण के बाद लॉगिन आइडी और पासवर्ड मिलता है। लॉगिन आइडी और पासवर्ड का इस्तेमाल करके अभ्यर्थियों को अपनी प्रोफाइल में लॉगिन करना होता है। तीसरे चरण में ऐप्लिकेशन फॉर्म भरना और अंत में शुल्क भुगतान करना होता है। सामान्य वर्ग/आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग/ओबीसी की गैर क्रीमी लेयर के उम्मीदवार को 1900 रुपये शुल्क देना होगा। जबकि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं दिव्यांग अभ्यर्थियों को 950 रुपये शुल्क भरना होगा।

ये होगा परीक्षा का प्रारूप

हर सेक्शन के लिए कैंडिडेट्स को एक-एक घंटा दिया जाएगा। एक सेक्शन के लिए निर्धारित समय में उसी सेक्शन के सवालों को हल कर सकते हैं। उस दौरान दूसरे सेक्शन के सवाल हल करने की अनुमति नहीं होगी। सवाल दो तरह के होंगे। एक तो बहुविकल्पीय और दूसरा सीधे आंसर देने वाले।

जिपमर-पीजी के लिए शुरू हुए ऑनलाइन आवेदन

अगर आप एमबीबीएस के बाद अब एमडी-एमएस की तैयारी में जुटे हैं तो यह खबर आपके लिए है। जिपमर (जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च) पीजी के लिए आवेदन शुरू हो गए हैं। ऑनलाइन आवेदन 25 अक्टूबर तक किए जा सकते हैं। प्रवेश परीक्षा आठ दिसंबर को होगी। जिसके लिए हॉल टिकट जिपमर 13 नवंबर को जारी करेगा।

देशभर के मेडिकल कॉलेजों में पीजी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए केवल नीट-पीजी ही प्रवेश परीक्षा है। लेकिन, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) व जिपमर अलग परीक्षा आयोजित करते हैं। जिपमर पीजी के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों के पास एमबीबीएस या मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से मान्यता प्राप्त समकक्ष डिग्री होनी चाहिए। यह भी आवश्यक है कि अभ्यर्थी ने 31 दिसंबर, 2019 से पहले 12 महीने की अनिवार्य इंटर्नशिप/प्रैक्टिकल ट्रेनिंग पूरी कर ली हो। इच्छुक अभ्यर्थी जिपमर की आधिकारिक वेबसाइट jipmer.edu.in पर एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं। सामान्य श्रेणी के लिए आवेदन शुल्क 1600 रुपये है। एससी/एसटी के लिए सिर्फ 1200 रुपये शुल्क देय है। दिव्यांग को ऐप्लिकेशन फीस से छूट दी गई है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सेमस्टर सिस्टम को लेकर सवा लाख छात्रों में असमंजस

बता दें, परीक्षा का आयोजन कम्प्यूटर मोड में होगा। परीक्षा कुल तीन घंटे की होगी। जिसकी भाषा सिर्फ अंग्रेजी होगी। परीक्षा में कुल 250 सवाल पूछे जाएंगे, जिनमें से 1000 बुनियादी क्लिनिकल साइंस से होंगे और 150 क्लिनिकल साइंस से।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के सभी निजी स्कूलों में संस्कृत की पढ़ाई अनिवार्य

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस