देहरादून, राज्य ब्यूरो। राज्य में जुलाई महीने में विश्वविद्यालय परीक्षाएं कराने का सरकार का आदेश बेमायने हो गया है। अनलॉक-दो में भी 31 जुलाई तक शिक्षण संस्थाओं को नहीं खोलने की केंद्र सरकार की गाइडलाइन के बाद यह भी तकरीबन तय हो गया है कि इस अवधि तक ऑफलाइन परीक्षाएं नहीं होंगी। अलबत्ता ऑनलाइन परीक्षाएं कराने या छात्र-छात्राओं को प्रोन्नत किए जाने के संबंध में यूजीसी और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की गाइडलाइन का इंतजार किया जा रहा है। 

राज्य विश्वविद्यालयों और डिग्री कॉलेजों में अध्ययनरत करीब 2.77 लाख छात्र-छात्राओं की वार्षिक, छमाही व तिमाही सत्र परीक्षाओं को लेकर संशय और गहरा गया है। शासन ने जुलाई माह में ही सभी राज्य विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन या ऑफलाइन परीक्षाएं कराने के आदेश बीती 21 मई को जारी किए थे। हालांकि जुलाई माह में परीक्षा कराने को लेकर राज्य के ही कुछ विश्वविद्यालयों ने असमर्थता जताई थी। 
अब अनलॉक-दो में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 31 जुलाई तक सभी शिक्षण संस्थाओं को बंद रखने के आदेश जारी किए हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव को देखते हुए लिए गए इस फैसले के बाद प्रदेश में जुलाई माह में ऑफलाइन परीक्षाओं की संभावना पूरी तरह खत्म हो गई है। अलबत्ता ऑनलाइन परीक्षाओं को लेकर केंद्र सरकार के रुख का इंतजार किया जा रहा है। इससे स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर अंतिम वर्ष के परीक्षार्थियों को परीक्षा को लेकर इंतजार बढ़ गया है।
परीक्षाएं ऑनलाइन होंगी या नहीं या छात्र-छात्राओं को अगले सत्र के लिए प्रोन्नत किया जाएगा, इसे लेकर यूजीसी और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय का रुख साफ नहीं हुआ है। उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव आनंद ब‌र्द्धन ने कहा कि इस संबंध में यूजीसी और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की गाइडलाइन की प्रतीक्षा की जा रही है। इसके आधार पर ही परीक्षाओं के संबंध में फैसला लिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस