जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: वार्ड संख्या 35 में सूखा एवं गीला कूड़ा अलग-अलग रखकर स्वच्छता अभियान में सहयोग कर रहे क्षेत्रवासियों को महापौर महापौर अनीता ममगाईं ने सम्मानित किया। यूनाइटेड नेशंस डेवलपमेंट प्रोग्राम (यूएनडीपी)के सहयोग से संचालित कार्यक्रम में क्षेत्रवासियों ने स्वच्छता अभियान में सहयोग का संकल्प लिया।

अमित ग्राम गुमानीवाला में आयोजित कार्यक्रम में महापौर ने कहा कि ऋषिकेश के स्वच्छता को लेकर जागरूकता बढ़ी है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता की शुरुआत सही मायनों में अपने घर से की जा सकती है। उन्होंने बताया कि वार्डों में स्वच्छता प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है इसके जल्द ही सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। कार्यक्रम का संचालन कर रहे वार्ड पार्षद विपिन पंत ने बताया कि प्रतिदिन सुबह कूड़े वाहन के साथ घर-घर जाकर देखरेख करने से नगर वासियों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ी है। इस अवसर पर यूएनडीपी के प्रोजेक्ट आफिसर अयान चक्रवर्ती, ऋषिकेश वेस्ट मैनेजमेंट कंपनी के प्रबंधक शशांक सिंह, आशीष नेगी, फीडबैक फाउंडेशन के अजीत तिवारी, सपना पोखरियाल, सफाई निरीक्षक अभिषेक मल्होत्रा, वीरभद्र रेलवे स्टेशन के अधीक्षक एसके चौधरी आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- देहरादून: कैंट क्षेत्र में एलईडी स्ट्रीट लाइटों का होगा विस्तार, मुख्य मार्गों और गली-मोहल्लों में मिलेगी आमजन को सुविधा

 

85 जरूरतमंदों को सौपे आर्थिक सहायता के चेक

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय में 85 जरूरतमंदों को कुल आठ लाख रुपये के चेक वितरित किए।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं इसलिए स्वयं की सुरक्षा एवं सतर्कता अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक लाभार्थी प्रयास करें कि स्वयं आत्मनिर्भरता के साथ स्वरोजगार खड़ा कर अपना व्यवसाय प्रारंभ करें ताकि हमें पुन: आर्थिक सहायता के लिए ना आना पड़े। इस अवसर पर पार्षद राजेंद्र बिष्ट, शिव कुमार गौतम, अमर खत्री, सुमित पवार, अरुण बडोनी, गोपाल सती उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- Swachh Survekshan 2021: स्वच्छ सर्वेक्षण में उत्‍तराखंड में देहरादून को पहला स्थान, राष्ट्रीय स्तर पर 659 शहरों में दून को मिली 134 रैंक

Edited By: Raksha Panthri