डोईवाला (देहरादून), जेएनएन। केंद्र सरकार के घरेलू उड़ानों को मंजूरी देने के बाद देहरादून के जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर भी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सोमवार को दिल्ली, मुंबई और पंतनगर के लिए उड़ान शुरू की जाएंगी। लॉकडाउन शुरू होने के बाद 25 मार्च से हवाई सेवाएं बंद हैं।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट के डायरेक्टर डीके गौतम ने बताया कि फ्लाइट का शेड्यूल भी जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि शुरुआती दौर में प्रतिदिन सात फ्लाइट का संचालन किया जाएगा। एयरपोर्ट की सुरक्षा में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के डिप्टी कमांडेंट बीवीएस गौतम ने बताया कि कोरोना के मद्देनजर हवाई अड्डे पर सभी एहतियात बरते जाएंगे। शारीरिक दूरी के मानकों का पालन कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से सभी इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं।

दून से जाने वाली उड़ाने

दून से पंतनगर- प्रात: 8.0 बजे

दून से दिल्ली- प्रात: 8.25 बजे

दून से दिल्ली- प्रात: 11.00 बजे

दून से दिल्ली- पूर्वाह्न 11.45 बजे

दून से मुंबई- अपराह्न 1.05 बजे

दून से दिल्ली- अपराह्न 2.30 बजे

दून से दिल्ली- सायं 7.25 बजे

दून एयरपोर्ट पर आने वाली उड़ाने

दिल्ली से दून- सुबह 7.20 बजे

दिल्ली से दून- सुबह 8.02 बजे

पंतनगर से दून- पूर्वाह्न 10.20 बजे

दिल्ली से दून- पूर्वाह्न 10.45 बजे

मुंबई से दून- दोपहर 12.25 बजे

दिल्ली से दून- अपराह्न 1.50 बजे

दिल्ली से दून- सायं 6.25 बजे

वहीं, एयरपोर्ट डायरेक्टर डीके गौतम ने बताया कि तीन एयरलाइंस कंपनियों के जारी शेड्यूल में दो कंपनियों की फ्लाइटें हफ्ते में छह और दूसरी कंपनी की हफ्ते में पांच दिन ही फ्लाइटें चल पाएंगी। विदित हो कि गर्मी के इस सीजन में पर्यटन तीर्थटन की दृष्टि से उत्तराखंड का जौलीग्रांट हवाई यात्रियों से गुलजार बना रहता था। लेकिन इस बार कोरोना वायरस कि इस महामारी के दौर में हवाई सेवाएं भी प्रभावित रही। इस वर्ष चार धाम यात्रा भी प्रभावित हुई है।

फ्लाइट से आने वाले अपने खर्चे पर होंगे क्वारंटाइन

25 मई से अप्रवासी व अन्य लोग भी फ्लाइट से उत्तराखंड आ पाएंगे। आवागमन की बेहतर सुविधा को देखते हुए बड़ी संख्या में लोग देहरादून व अन्य जिलों में पहुंचने की कोशिश में होंगे। कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन भी सतर्क हो गया है। तय किया गया है कि फ्लाइट से आने वाले सभी लोग 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किए जाएंगे। हालांकि, फ्लाइट की सेवा का उपयोग करने वाले लोगों को अपने खर्च पर क्वारंटाइन में रहना होगा।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि अभी देहरादून में होटल सॉलिटेयर ही एकमात्र पेड क्वारंटाइन सेंटर है। यहां प्रतिदिन प्रति व्यक्ति दो हजार रुपये अदा कर क्वारंटाइन सुविधा का लाभ उठा सकता है। इस खर्च में भोजन की सुविधा भी शामिल है। हालांकि, लॉकडाउन में फ्लाइट शुरू होने के बाद अधिक क्वारंटाइन सेंटर की जरूरत पड़ेगी। जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि रविवार तक कुछ अतिरिक्त पेड क्वारंटाइन सेंटर और सूची में शामिल कर दिए जाएंगे। लिहाजा, जिसे भी फ्लाइट से आना है, उसे अनिवार्य रूप से पेड क्वारंटाइन में रहना होगा।

यह भी पढ़ें: Lockdown 4.0: उत्तराखंड में ऑड-ईवन पर सरकार का रोल बैक, जानें कितनी सवारियों को लेकर चलेंगे वाहन

वेब चेक इन और टेली चेक इन का भी प्रविधान

प्रदेश में बाहर से आने वालों के लिए वेब चेक इन और टेली चेक इन का प्रविधान किया गया है। वेब चेक इन में यात्री इंटरनेट के जरिये पहले ही बोर्डिंग पास प्राप्त कर सकते हैं। इसका मकसद कम से कम दस्तावेजों का इस्तेमाल करना है। इसी प्रकार टेली चेक इन के जरिये यात्री फ्लाइट पर अपनी सीट बुक करा सकते हैं।एनडीएमए की एसीइओ रिद्धिम अग्रवाल ने बताया कि एयरपोर्ट आने के लिए यदि किसी गाड़ी की बुकिंग की जाती है तो इसके लिए उसके लिए अलग से परमिशन लेनी होगी। जल्द ही एयरपोर्ट की प्रीपेड और रेंटल टैक्सी को भी अनुमति दी जानी प्रस्तावित है। 

यह भी पढ़ें: Lockdown 4.0: नहीं माने ट्रांसपोर्टर, खड़े रहे सार्वजनिक वाहन

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप