देहरादून, जेएनएन। देहरादून में बीते दिनों कुछ कश्मीरी छात्रों के देशविरोधी गतिविधियों में पाए जाने के बाद प्रदेश सरकार एहतियाती कदम उठाने जा रही है। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने बताया कि अब प्रदेश के शिक्षण संस्थानों में दाखिला लेने वाले छात्रों का पहले सत्यापन कराया जाएगा। यदि छात्र पहले किसी अराजक और देशविरोधी गतिविधि में लिप्त पाए जाते हैं तो उन्हें दाखिला नहीं दिया जाएगा। इसके लिए छात्र के गृह जनपद के डीएम व एसएसपी से रिपोर्ट मांगी जाएगी। कहा कि कुछ संदिग्ध कश्मीरी छात्रों के कारण सभी को सजा नहीं दी जाएगी।

रूलक की ओर से आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश सरकार कश्मीरी छात्रों की शिक्षा को लेकर गंभीर है। सरकार किसी भी छात्र के साथ अन्याय नहीं होने देगी। लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में देशविरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए कश्मीरी छात्रों के दाखिले से पहले उनका सत्यापन अनिवार्य किया जा रहा है।

यदि कोई शिक्षण संस्थान सत्यापन के बिना किसी कश्मीरी छात्र को दाखिला देता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सत्यापन का मकसद प्रदेश में शांति एवं सौहार्दपूर्ण माहौल सुनिश्चित करना है। बताया कि इस संबंध में शिक्षण संस्थानों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: सतपाल महाराज के बयान पर महबूबा मुफ्ती का पलटवार, पढ़िए पूरी खबर

यह भी पढ़ें: निर्दोष कश्मीरी छात्रों के पक्ष में उतरी एनएसयूआइ, सुरक्षा की पैरवी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस