देहरादून, जेएनएन। चमोली के लामबगड़ में तीन दिन से बंद बदरीनाथ हाईवे को शुक्रवार शाम करीब चार बजे खोल दिया गया। लामबगड़ स्लाइड जोन में पत्थर गिरने से पुलिस की देखदेख में वाहनों की आवाजाही हो रही थी। वहीं गौरीकुंड, यमुनोत्री, गंगोत्री हाईवे सुचारू रहा। इधर, पिथौरागढ़ में बारिश से एक मकान ध्वस्त हो गया, जबकि गोपेश्वर में गांव के ऊपर भूस्खलन हुआ।  

बदरीनाथ हाईवे लामबगड़ स्लाइड जोन में भूस्खलन से चार सितंबर को दोपहर बाद बंद हो गया था। एनएच की टीम उसी दिन से लगातार हाईवे खोलने के प्रयास में जुटा था, लेकिन लगातार हो रहे भूस्खलन के चलते हाईवे खोलने में दिक्कतें आ रही थी। लामबगड़ भूस्खलन जोन को सायं चार बजे खोला गया। हालांकि हाईवे बंद होने के दौरान पैदल यात्रा चलती रही। शुक्रवार की शाम को वाहन के लिए मार्ग खुलने के बाद यात्रियों ने भी राहत की सांस ली। 

पिथौरागढ़ जिले में बारिश का कहर थम नहीं रहा है। अतिवृष्टि से जौलजीवी के दूती गांव में एक मकान ध्वस्त हो गया। बंगापानी के खर्तोली गांव में प्राथमिक विद्यालय भवन क्षतिग्रस्त हुआ है। थल-मुनस्यारी मार्ग बनिक के पास मलबा आने से बंद हो गया। बागेश्वर के कपकोट तहसील के उच्च हिमालय से सटे इलाके में गुरुवार की रात जमकर बारिश होने से सरयू नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ गया। एसडीएम कपकोट को रात में हाई अलर्ट जारी करना पड़ा।

भारी भूस्खलन से पांच घरों को नुकसान

गोपेश्वर जिले के कुमारतोली गांव में बीती रात भारी बारिश के दौरान पहाड़ी से भूस्खलन हुआ, जिससे पांच घरों में मलबा घुस गया। वहीं, एक दुकान क्षतिग्रस्त हो गई। भारी बारिश से गांव में अफरा-तफरी का माहौल रहा। अनहोनी की आशंका को देखते हुए ग्रामीण अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर चले गए थे। जब तड़के बारिश बंद हुई, तब जाकर लोग अपने घरों में लौट आए। आपदा प्रबंधन और राजस्व विभाग की टीम ने मौके पर जाकर नुकसान का जायजा लिया है। 

कुमारतोली गांव के बीचोंबीच भारी भूस्खलन हुआ है। बताया गया कि गुरुवार रात आठ बजे से घाट क्षेत्र में तेज बारिश शुरु हो गई। कुमारतोली गांव के ठीक ऊपर भूस्खलन शुरू हो गया। इसका मलबा कुमारतोली गांव में घुस गया। गोदाबरी देवी, माधो राम, खिलाफ सिंह, मोहन सिंह और लक्ष्मण सिंह के घर में मलबा घुसा है। वहीं, एक दुकान क्षतिग्रस्त हो गई।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के पांच जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बदरी धाम में चौथे दिन भी फंसे रहे 1300 श्रद्धालु 

दून की सड़के हुईं तालाब  

शुक्रवार शाम को देहरादून में तेज बारिश हुई, जिससे सड़के तालाबों में तब्दील हो गई। अचानक हुई बारिश से लोग इधर-उधर भागने लगे। वहीं, इस दौरान शहर की ड्रेनेज व्यवस्था की भी पोल खुलकर रह गई। सड़कें पूरी तरह से तालाब बन गई, जिसके कारण वाहन चालकों को कई तरह की दिक्कतों से दो चार होना पड़ा। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बारिश का कहर जारी, अल्मोड़ा में मकान ध्वस्त होने से युवती की मौत

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप