देहरादून, जेएनएन। लोकसभा चुनाव में हार के बाद भी कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री ने राजनीतिक सक्रियता बढ़ा दी। इन दिनों वह कार्यकर्ताओं के घर जाकर उनसे मिल रहे हैं। साथ ही उन्हें संगठन की मजबूती के लिए भी प्रेरित कर रहे हैं। 

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के बीच जाकर उन्होंने कहा कि कहा कि पुराने लोग हमारी जड़ें हैं। अब हमें अपनी जड़ों को तलाशना होगा और आगे बढ़ने का रास्ता तैयार करना होगा। 

क्लेमेनटाउन बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोहम्मद अली के निवास पर पहुंचकर हरीश रावत ने उसके मुलाकात की। कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं की नाराजगी कांग्रेस पर भारी पड़ी। हार एवं जीत राजनीतिक सफर का हिस्सा है, लेकिन पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ताओं की सक्रियता कम होने और नये कार्यकर्ताओं को पार्टी की विचारधारा से नहीं जोड़ना बड़ी भूल है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेसजनों को अपने पुराने वयोवृद्ध कार्यकर्ताओं से संपर्क करना होगा और पार्टी को फिर मजबूत करने की सीख लेनी होगी। इस दौरान उन्होंने नेहरू ब्रिगेड संगठन के अध्यक्ष संतराम शर्मा एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कृष्णा शर्मा से जाखन स्थित निवास पर जाकर मुलाकात की। 

हरीश रावत ने कहा के जनता के बीच जाकर वह लोकसभा चुनाव में मिली हार के कारण तो तलाश रहे हैं। साथ ही पार्टी की मजबूती एवं सभी वर्गों को पार्टी से जोड़ने को लेकर पुराने साथियों के साथ अनुभव साझा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का धरातल मजबूत है, हमें उसी धरातल को तलाशना होगा। उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं नेताओं से मिलने का कार्यक्रम आगे भी जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड कांग्रेस ने राहुल गांधी से पद पर बने रहने का किया अनुरोध

यह भी पढ़ें: हरीश रावत बोले, जनता के बीच जाकर तलाश रहा हूं हार के कारण

यह भी पढ़ें: अजय भट्ट बोले, किसी गदेरे की गुफा में बैठकर ध्यान लगाएं हरदा

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Bhanu