देहरादून, राज्य ब्यूरो। सरकारी डिग्री कॉलेजों में कार्यरत सांध्यकालीन, प्रात: कालीन गेस्ट फैकल्टी को अब एकसमान 35 हजार रुपये मानदेय मिलेगा। उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव आनंद वर्द्धन ने शुक्रवार को इस संबंध में आदेश जारी किए। इससे डिग्री कॉलेजों में कार्यरत 322 गेस्ट फैकल्टी लाभान्वित होंगे। 

उत्तराखंड के सरकारी डिग्री कॉलेजों में एक ही कार्य के लिए नियुक्त गेस्ट फैकल्टी को अब असमान मानदेय से निजात मिल गई है। इस संबंध में बीती 24 जुलाई को मंत्रिमंडल ने फैसला लिया था। मंत्रिमंडल के फैसले के एक माह बाद अब इस संबंध में शासनादेश भी जारी हो गया है। सरकारी डिग्री कॉलेजों में 59 सांध्यकालीन गेस्ट फैकल्टी को 15 हजार रुपये मासिक, 263 प्रात: कालीन गेस्ट फैकल्टी को 25 हजार रुपये मानदेय का भुगतान किया जा रहा है। 
इसी तरह गढ़वाल विश्वविद्यालय के केंद्रीय विश्वविद्यालय बनने के बाद वहां से सरकारी कॉलेजों में भेजी गई 35 गेस्ट फैकल्टी को 35 हजार रुपये मानदेय दिया जा रहा है। सरकार के के फैसले से 322 गेस्ट फैकल्टी के मानदेय में इजाफा भी हो गया है। फैकल्टी को प्रतिमाह 40 पीरियड अनिवार्य रूप से पढ़ाने होंगे। यह टाइम टेबल बनाने की जिम्मेदारी कॉलेज की होगी। शासनादेश के बाद सभी 357 गेस्ट फैकल्टी को समान मासिक मानदेय 35 हजार रुपये मिलेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस