देहरादून, जेएनएन। India China LAC Border Dispute सीमा पर चीन के सैनिकों की घुसपैठ और भारतीय सैनिकों के साथ संघर्ष की घटना से लोग आक्रोशित हैं। सीमा पर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के साथ लोगों ने चीन की हरकतों की कड़ी निंदा की है। साथ ही केंद्र सरकार से चीन को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए ठोस कदम उठाने की मांग भी की।

चीन सीमा पर शहीद हुए भारतीय सैनिकों को दी श्रद्धांजलि

रुड़की के अशोक नगर क्षेत्रीय विकास समिति के तहत आने वाली कालोनियों की विकास समितियों ने अशोक नगर के शिव चौक पर भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर समिति के केन्द्रीय अध्यक्ष हर्ष प्रकाश काला ने कहा कि चीन के सैनिकों ने भारतीय सैनिकों को धोखे से मारा है। जिसका सरकार को करारा जवाब देना चाहिए। साथ ही देश के व्यापारी वर्ग एवं आम जनता से चीन का सामान न खरीदने का अनुरोध कर चीन को आर्थिक मार देने पर जोर दिया।

इस दौरान चीन का पुतला दहन किया गया।इस मौके पर अशोक नगर, शिवाजी कॉलोनी, न्यू शिवाजी कॉलोनी, आदर्श नगर, राज विहार कॉलोनी, दुर्गा कॉलोनी समेत विभिन्न कॉलोनियों की विकास समितियों के सदस्य और काफी संख्या में महिलाएं भी उपस्थित रही। वहीं सिविल लाइन में व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने चीन का सामान जलाया। व्यापारियों से दुकानों में चीन का सामान नहीं रखने का आह्वान किया। साथ ही जनता से भी चीन के उत्पाद नहीं खरीदने की अपील की।

शहीदों को श्रद्धांजलि देकर चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने का लिया संकल्प

लद्दाख के गलवन घाटी में भारतीय सीमा में घुस आए चीनी सैनिकों और चीनी सैनिकों की की कायराना हरकत के खिलाफ लोगों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को भी ऋषिकेश में चीन के खिलाफ गुस्सा वह विरोध प्रदर्शन जारी रहा। भाजपा ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देकर चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने का संकल्प लिया, वहीं कांग्रेस ने चीन का पुतला फूंक कर रोष व्यक्त किया।

ऋषिकेश भारतीय जनता पार्टी के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती के नेतृत्व में चीन और भारत के बॉर्डर पर शहीद हुए सैनिकों को पार्टी कार्यकर्ताओं ने रेलवे रोड स्थित पार्टी कार्यालय में श्रद्धांजलि अर्पित की। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने सभी कार्यकर्ताओं को चीनी उत्पादों का उपयोग न करने की शपथ दिलाई। मंडल अध्यक्ष दिनेश सती ने बताया हमारे सैनिकों का जो रक्त बहा है, उसकी कीमत चीन को चुकानी पड़ेगी। सभी कार्यकर्ताओं ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और शहीदों के प्रति 2 मिनट का मौन रखा गया।

कार्यक्रम में बीजेपी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र दत्त सकलानी, राज्यमंत्री कृष्ण कुमार सिंघल, इंद्र कुमार गोदवानी, संजय शास्त्री, मंडल महामंत्री हिमांशु संतानी, सुमित कुमार, शिव कुमार गौतम, राकेश  अग्रवाल, कपिल गुप्ता, ऊषा जोशी, रोमा सहगल, जितेंद्र अग्रवाल, बृजेश शर्मा आदि उपस्थित थे।

कांग्रेस ने चीन का पुतला फूंका

महानगर कांग्रेस कमेटी ऋषिकेश ने चीन का पुतला फूंका। कार्यकारी अध्यक्ष शिवमोहन मिश्र ने कहा कि चीन हमारी सीमाओं का अतिक्रमण करना चाहता है, उसके इस दुस्साहस कार्य को रोकने में हमारी सेना के 20 सैनिक व एक सेना अधिकारी शहीद हो गए। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि चीन का मुंहतोड़ जवाब दें। कांग्रेस पार्टी इस घड़ी में सेना व सरकार के साथ खडी है तथा कांग्रेस पार्टी सरकार से ये भी मांग करती है कि चीन सारे संबंध समाप्त करे और जो भी काम चीनी कंपनियों से कराये जा रहे है सब वापस लिये जाए। एआईसीसी सदस्य जयेंद्र रमोला ने भारत में चीनी निवेश बंद करने और व्यापार पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। इस दौरान प्रदेश सचिव मदनमोहन शर्मा, अरविंद जैन, पार्षद राकेश सिंह, पार्षद देवेंद्र प्रजापति, गौतम नौटियाल, नंदकिशोर जाटव, सहदेव सिंह राठौर, प्रदीप जैन, अमित पाल, गौरव यादव आदि उपस्थित थे।

चीन का पुतला फूंका

डोईवाला के थानों चौक पर गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने चीन का पुतला फूंक कर चीन के खिलाफ नारेबाजी भी की।  वहीं शहीदों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान भाजपा नेता राजेंद्र मनवाल, दीवान सिंह रावत, अनिल तीर्थवाल प्रेम पुंडीर आदि भी उपस्थित थे।

सभी व्यापारियों से चीनी समान ना खरीदने का आह्वान

नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल ऋषिकेश द्वारा चीन की नापाक हरकतों के विरुद्ध चीन का पुतला फूंका गया। इस अवसर प्रदेश उपाध्यक्ष एवं राज्यमंत्री कृष्ण कुमार सिंघल ने कहा कि चीन हमेशा से ही पीठ में छुरा घोंपने का कार्य करता आया है। 1962 में हिन्दी चीनी भाई भाई का नारा दिया गया था, जिस पर चीन ने भारत को धोखा दिया। आज भी चीन वहीं हरकत कर रहा है। जिलाध्यक्ष नरेश अग्रवाल ने कहा कि देश के व्यापारी संकल्प लें रहें है कि वें चीनी उत्पादों का बहिष्कार करेंगे व व्यापारियो से आग्रह करेंगे कि आगे से चीनी सामान नहीं खरीदे। नगर महामंत्री ललित मोहन मिश्र ने कहा कि चीन बार बार ये हरकत करता है और भारत की सहन शक्ति की परीक्षा लें रहा है। इस बार भारत ने ईंट का जवाब पत्थर से देते हुए उनके 43 सैनिको को मौत के घाट उतार दिया है। मिश्र ने सभी व्यापारियों से चीनी समान ना खरीदने का आह्वान किया। 

इस अवसर पर सुभाष कोहली, व्यापार सभा अध्यक्ष मनोज कालरा, रवि जैन , पवन शर्मा , गिरिराज गुप्ता, दिनेश अरोड़ा ,संजय व्यास , नितिन गुप्ता,आशू डंग, प्रतीक कलिया ,  राजेश मनचंदा ,आशू अरोड़ा , मोतीराम टुटेजा , अनुज जैन , धीरज चतरथ,अतुल शर्मा ,दीपक दरगन आदि उपस्थित थे।

ड्रैगन की करतूत पर फूटा दूनवासियों का गुस्सा

दून में तमाम कर्मचारी संगठन, व्यापारी और राजनीतिक दल एक स्वर में चीन और चीनी उत्पादों का विरोध जता रहे हैं। इसके चलते बाजार से चीनी उत्पादों के बहिष्कार की मांग की भी तेज हो गई है। आमजन के साथ ही व्यापारियों ने भी चीनी उत्पाद नहीं मंगाने की बात कही है। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर प्रहलाद सिंह ने कहा कि एक-एक सैनिक की जान कीमती है। सरकार को अब कड़े कदम उठाने में देर नहीं करनी चाहिए। उत्तराखंड जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष दीपक जोशी ने कहा कि सीमा पर जवानों ने जान देकर भी चीनी सैनिकों को भारतीय सीमा में घुसने नहीं दिया। देश की वीर जवानों को शत-शत नमन है। उत्तराखंड एससी एसटी इंप्लाइज फेडरेशन के प्रांतीय अध्यक्ष करमराम ने कहा कि सरकार को अब इस समस्या का स्थायी समाधान करना चाहिए। ऑल इंडिया गवर्नमेंट ड्राइवर फेडरेशन के कार्यवाहक महामंत्री संदीप कुमार मौर्य ने रक्षा मंत्री को भेजे पत्र में सीमा पर सैनिकों को और अधिकार दिए जाने की मांग की। खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड अधिकारी कर्मचारी संगठन ने भी चीन के हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सरकार से ठोस कदम उठाने की मांग की है।

चीनी उत्पादों के बहिष्कार का आह्वान

भारतीय जनता युवा मोर्चा की ओर से चीनी के राष्ट्रपति शी जिन¨पग के रवैये की निंदा की गई। कार्यकर्ताओं ने कहा कि सीमा पर चीनी सेना ने विश्वासघात करते हुए रात में भारतीय सैनिकों पर पीछे से वार किया। ऐसे में हमारी सेना के नौजवान साथियों ने उसका मुंहतोड़ जवाब देते हुए उनके सैनिकों को खदेड़ा। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से चीन के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग की। साथ ही देशवासियों से चीनी सामान का बहिष्कार करने की अपील की। इस मौके पर महापौर सुनील उनियाल गामा, महानगर अध्यक्ष श्याम पंत, राज्यमंत्री जितेंद्र रावत मोनी आदि उपस्थित रहे।

शहीदों को दी श्रद्धांजलि

चीन सीमा पर शहीद सैनिकों को क्लेमेनटाउन वासियों ने श्रद्धांजलि दी। शहीद जसवंत सिंह रावत चौक पर लोगों ने मोमबत्ती जलाकर शहीदों को नमन किया। इस अवसर पर विधायक विनोद चमोली ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि भारत की शक्तिशाली सेना से बौखलाया चीन भारत से भयभीत है। शहीद हुए सैनिकों का बदला जल्दी ही हमारी सेना लेगी। इस अवसर पर भाजपा नेता महेश पांडे, मोहन जोशी, एसएस राठौर, दीपा जोशी, सुदामा जुयाल, मीरा जोशी, सुनील राजोरिया, विशाल कुमार आदि उपस्थित रहे।

शहीदों को किया नमन

भारतीय किसान यूनियन तोमर के प्रदेश कार्यालय में वीर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष सोमदत्त शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता अरुण शर्मा, प्रदेश संगठन मंत्री चमन सिंह, रमेश चौहान, नरेंद्र सिंह चौहान, सतपाल सिंह आदि ने शहीदों को नमन किया।

यह भी पढ़ें: India China LAC Border Dispute: चीन की हरकत पर बाबा रामदेव बोले, यह मुंहतोड़ जवाब देने का वक्त

चीन का झंडा फूंका

गलवान घाटी में हुई घटना से शिव सेना भी आक्रोशित है। बुधवार को शिव सैनिकों ने चीन का झंडा जलाकर आक्रोश व्यक्त किया। शिव सेना प्रमुख गौरव कुमार ने कहा कि चीन लगातार सीमा पर तनाव का माहौल बना रहा है। देश की सीमा पर ऐसी घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जा सकती। इस मौके पर महानगर महासचिव मनजीत भट्ट, मनोज वोहरा, रजत विश्नोई, विकास राजपूत, जतिन गुगनानी, हर्ष सिंघल आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: India China LAC Border Dispute: चीन से लड़ चुके लांस नायक बलवंत बोले, 1962 वाला

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021