देहरादून, जेएनएन। चावला चौक के पास डीबीएस पीजी कॉलेज के सामने हास्टल के बाहर साइबर कैफे संचालक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। शव छत के छज्जे की लोहे की रेलिंग के नीचे दबा हुआ था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। स्वजनों की ओर से हत्या का आरोप लगाए जाने के बाद पुलिस ने हास्टल के बगल में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज निकलवाई तो पता चला कि युवक भोर में करीब पौने चार बजे हास्टल की छत पर चढ़ने की कोशिश कर रहा था। इस दौरान रेलिंग उखड़ गई और वह रेलिंग के ग्रिल समेत नीचे गिर गया।

डीआइजी अरुण मोहन जोशी भी मौके पर पहुंचे। फुटेज और हास्टल के छात्रों से पूछताछ के बाद उन्होंने बताया कि अब तक की तफ्तीश के आधार पर दुर्घटनावश मौत होने की बात सामने आई है। मृतक की पहचान कपिल देव के रूप में हुई है। वह डालनवाला कोतवाली क्षेत्र में चावला चौक के पास डीबीएस के सामने साइबर कैफे चलाता था। 

स्वजनों ने बताया कि हास्टल में रहने वाले छात्र नए साल की पार्टी के दौरान काफी हंगामा कर रहे थे। इस पर कपिल ने उन्हें कई बार टोका, लेकिन वह नहीं माने। इस पर कपिल का हास्टल के लड़कों से झगड़ा भी हुआ। विवाद बढ़ा तो स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। चीता पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर शांत करा दिया। 

इसके बाद कपिल अपने कमरे में सोने चला गया। मगर, सुबह कैफे के पड़ोस में स्थित हास्टल का साफ-सफाई करने वाला शख्स आया तो उसने देखा कि कपिल बरामदे में गिरा पड़ा है और उसके ऊपर छत के छज्जे की रेलिंग पड़ी हुई है। उसके पेट में गहरे जख्म हो गए थे, जिससे काफी खून बह चुका था। उसके शोर मचाने पर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। 

घटना की आला अधिकारियों को जानकारी दी गई। डीआइजी अरुण मोहन जोशी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया। साथ ही हास्टल से सटे मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी देखी। डीआइजी ने बताया कि फुटेज में कपिल भोर में 3.44 बजे रेलिंग पकड़कर छत पर चढ़ने की कोशिश करता दिख रहा था। इस दौरान रेलिंग उखड़ गई और रेलिंग की लोहे की ग्रिल समेत वह जमीन पर आ गया। जिससे उसकी मौत हो गई।

नहीं सुनाई दी रेलिंग गिरने की आवाज

घटना भोर में पौने चार बजे की है। लेकिन पुलिस को कपिल का शव मिलने की जानकारी करीब पौने नौ बजे मिली। सवाल यह कि रेलिंग गिरी तो आवाज हुई होगी, कपिल ने चीख-पुकार भी मचाई होगी। किसी को न तो रेलिंग गिरने की आवाज सुनाई दी और न ही उसके चीखने-चिल्लाने की। इन बातों के आधार पर ही स्वजन हत्या की आशंका जता रहे हैं। 

हास्टल के छात्रों के लिए बयान

घटना के बाद पुलिस हास्टल में रहने वाले सभी छात्रों को हिरासत में लेकर डालनवाला कोतवाली ले आई। वहां सभी से अलग-अलग पूछताछ की गई। सभी ने बताया कि वह रात में नए साल की पार्टी करने के बाद कमरों में सोने चले गए। 

यह भी पढ़ें: पेड़ से लटका मिला युवक का शव, पुलिस मान रही आत्महत्या Dehradun News

उन्होंने स्वीकार किया कि उनका रात में कपिल के साथ झगड़ा हुआ था, लेकिन पुलिस की मध्यस्थता के बाद बात वहीं खत्म हो गई थी। उन्हें रेलिंग के गिरने की आवाज नहीं सुनाई दी। सुबह सफाई वाला पहुंचा तो उसने शोर मचाकर सभी को जगाया। 

यह भी पढ़ें: संदिग्ध परिस्थितियों में ठेकेदार की मौत, पंखे से लटका मिला शव Dehradun News

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस