देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रदेश कांग्रेस ने साफ किया है कि अब पार्टी के लिए सक्रिय रह कर धरातल पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं, विशेषकर महिलाओं और युवाओं को आगामी पंचायत व विधानसभा चुनावों में टिकट वितरण में तरजीह दी जाएगी। 

प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने सभी अनुषांगिक संगठनों से कांग्रेस को ग्रासरूट लेवल पर मजबूत बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सामने देश को छद्म राष्ट्रवाद से बचाने की चुनौती है। इसके लिए कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा। 

कांग्रेस भवन में कांग्रेस के अनुषांगिक संगठनों की बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि देश वर्तमान सरकार की गलत नीतियों के कारण आर्थिक मंदी की ओर जा रहा है। बेरोजगारी बढ़ रही है। नोटबंदी के दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। सत्ताधारी भाजपा इन नाकामियों को छिपाने के लिए छद्म राष्ट्रवाद का सहारा लेकर जनता को गुमराह कर रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का गौरवशाली इतिहास रहा है। अब फिर से कांग्रेस को मजबूत करने की जरूरत है। इसके लिए कांग्रेस के सभी अनुषांगिक संगठनों यानी महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, एनएसयूआई आदि को एकजुट होकर पार्टी को मजबूत करने के लिए पूरी ताकत लगानी होगी। 

यह भी पढ़ें: देवभूमि उत्तराखंड में समाज सेवा के कार्यों को तेजी से बढ़ाएगा संघ

प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता राज्य सरकार की नाकामी और कारगुजारियों से परेशान है। बेरोजगारों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में सभी अनुषांगिक संगठन इसके खिलाफ सड़क पर उतरकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलें। 

नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने कहा कि अनुषांगिक संगठन कांग्रेस की आंख, कान, नाक, हाथ और पांव है। जब ये अंग ठीक रहेंगे तभी पूरा शरीर काम करेगा। सभी के परस्पर सहयोग व सामंजस्य से पार्टी मजबूत होगी। प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्य ने कहा कि महिला कांग्रेस लगातार पार्टी को मजबूत करने के लिए काम कर रही है। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड भाजपा ने जारी किया चुनाव कार्यक्रम, 15 दिसंबर तक मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष

इस अवसर पर युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुमित भुल्लर, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी, वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, एनएसयूआई के राष्ट्रीय प्रभारी अनुशेष शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी, आशा मनोरमा शर्मा, आशा बिष्ट, कमलेश रमन आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: गुपचुप तरीके से लाए पूर्व मुख्‍यमंत्रियों को सुविधा देने का प्रस्‍ताव

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप