संवाद सूत्र, चकराता: जौनसार के चकराता-बिजनाड़ क्षेत्र में कुदरत ने जमकर कहर बरपाया। गुरुवार सुबह चकराता तहसील से जुड़े इस गांव में बादल फटने से तीन ग्रामीण परिवारों की आवासीय छानी मलबे के साथ जमींदोज हो गई। पहाड़ से भारी मात्रा में आए मलबे की चपेट में आने से पिता-पुत्री समेत तीन लोग मलबे के नीचे दब गए, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा दो दर्जन से अधिक पशु मलबे के नीचे दबकर मर गए। मलबे की चपेट में आने से तीन ग्रामीण महिलाएं और एक युवक समेत चार लोग घायल भी हुए। सूचना के तुरंत बाद एसडीएम चकराता एसडीआरएफ टीम के साथ मौके पर पहुंची और राहत कार्य शुरू हुआ। 

   चकराता प्रखंड से जुड़े जौनसार के विशलाड़ खत अंतर्गत खेड़ा बिजनाड़ में जोगियो पंचायत के कुछ ग्रामीण किसानों की आवासीय छानी है। छानी में रह रहे स्थानीय लोग खेती-बाड़ी और पशुपालन का काम करते हैं। बिजनू पंचायत के खेड़ा बिजनाड़ में जोगियो पंचायत के कोल्हा निवासी तीन ग्रामीण परिवारों की आवासीय छानी बीती रात से लगातार हो रही बारिश के चलते सुबह करीब आठ बजे बादल फटने से छानी के ऊपर पहाड़ से जलजले के रूप में भारी मात्रा में आए मलबे के साथ जमींदोज हो गई। हादसे में मुन्ना (35) पुत्र गुंतादास और उसकी 13 वर्षीय पुत्री साक्षी और काजल (13) पुत्री शीशपाल तीनों लोग निवासी कोल्हा मलबे की चपेट में आने से छानी के अंदर ही दब गए। अतिवृष्टि के चलते स्थानीय ग्रामीणों के दो दर्जन से अधिक पशु भी मलबे के नीचे दबकर मर गए। स्थानीय ग्रामीणों की माने तो जिस जगह बादल फटा वहां तीन परिवारों की आवासीय छानी अगल-बगल में बनी थी, जबकि अन्य ग्रामीणों की छानियां कुछ दूरी पर है। घटना के दौरान वहां जान बचाने को ग्रामीणों में चीख-पुकार मच गई। हादसे के वक्त छानी में मौजूद कुछ अन्य ग्रामीणों ने किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई। इस दौरान आसपास के ग्रामीण मदद के लिए मौके पर पहुंचे और लगातार हो रही बारिश के बीच बिना देर किए मलबे में लापता व्यक्तियों की तलाश को स्वयं रेस्क्यू अभियान चलाया। सूचना के तुरंत बाद उप जिलाधिकारी संगीता कनौजिया के निर्देशन में तहसीलदार पूरण ङ्क्षसह तोमर, थानाध्यक्ष चकराता अनूप नयाल और राजस्व निरीक्षक जीवन ङ्क्षसह तोमर टीम के साथ राहत एवं बचाव कार्य को मौके पर पहुंचे। एसडीआरएफ और पुलिस टीम ने ग्रामीणों की मदद से संयुक्त रेस्क्यू अभियान चलाकर मलबे के नीचे दबे पिता-पुत्री समेत तीनों के शव बरामद किए। जोगियो की प्रधान सरिता चौहान, बिजनू की क्षेत्र पंचायत सदस्य लक्ष्मी देवी, स्याणा संदीप चौहान, शैलेंद्र कुमार, प्रगतिशील किसान यशपाल ङ्क्षसह रावत, क्वांसी व्यापार मंडल के अध्यक्ष सूर्यपाल चौहान आदि ने कहा कि जौनसार के खेड़ा बिजनाड़ में बादल फटने की घटना से बड़े पैमाने पर जान-माल का नुकसान हुआ है। स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने शासन-प्रशासन से दैवीय आपदा के शिकार हुए पीडि़त परिवार को उचित मुआवजा देने की मांग की है। एसडीएम संगीता कनौजिया ने कहा कि एसडीआरएफ पुलिस टीम ने घटनास्थल से मलबे में दबे तीन शवों को बरामद किया है। पुलिस ने पंचनामा भर मौके पर ही पोस्टमार्टम की कार्रवाई होने के बाद शव स्वजनों को सौंप दिए। राजस्व निरीक्षक जीवन ङ्क्षसह तोमर ने बताया बादल फटने से अतिवृष्टि के कारण मलबे की चपेट में आने से मलबे में दबे मुन्ना की पत्नी बालो देवी और उसका पुत्र मुकुल, शीशपाल की पत्नी बाली देवी, उषा देवी पत्नी विक्रम समेत चार लोग घायल हो गए, जिनका प्राथमिक उपचार पीएचसी क्वांसी में कराया गया। घटना के चलते स्थानीय ग्रामीणों के गोशाला में बंधे पांच बैल, पांच गाय, एक घोड़ा और 15 बकरियां समेत 26 पशु मलबे में दबकर मर गए। राजस्व पुलिस ने जांच रिपोर्ट में इसकी पुष्टि की है। इस दौरान चकराता विधायक प्रीतम ङ्क्षसह ने घटनास्थल का मौका मुआयना कर गमगीन परिजनों से मुलाकात की और नुकसान का जायजा लिया। 

जनप्रतिनिधियों बांटा गमगीन परिवार का दर्द

प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एवं चकराता विधायक प्रीतम ङ्क्षसह ने स्थानीय प्रशासन से घायलों का समुचित उपचार करने और पीडि़त परिवार को उचित आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। वहीं उत्तराखंड जनजाति आयोग के अध्यक्ष मूरतराम शर्मा ने घटना के संबंध में स्थानीय और जिला प्रशासन से जानकारी ली। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम ङ्क्षसह एसटी आयोग के चेयरमैन मूरतराम शर्मा और ब्लॉक प्रमुख चकराता निधि राणा ने घटना पर गहरा दुख जताया है। इस दौरान युवा कांग्रेस नेता नरेंद्र ङ्क्षसह राणा, पूर्व ज्येष्ठ उपप्रमुख खुशीराम शर्मा, पूर्व प्रधान जगत ङ्क्षसह चौहान, राजस्व उपनिरीक्षक मनोज कुमार, विशाल खत्री आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें-Uttarakhand Weather Update: उत्तराखंड में मूसलधार बारिश, भारी भूस्‍खलन के कारण नेशनल हाईवे 58 बाधित

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप