देहरादून, जेएनएन। भारत रक्षा पर्व का आइटीबीपी (भारत तिब्बत बॉर्डर पुलिस) के जवानों की कलाई पर राखी बांधने के साथ ही समापन हो गया। इस अवसर पर आइटीबीपी सीमा द्वार में रक्षा पर्व का आयोजन किया गया। बुधवार को आइटीबीपी के रेनबो हाल में भारत रक्षा पर्व का शुभारंभ आइटीबीपी नार्दन फ्रंटियर के डीआइजी केपी सिंह, कमांडेंट 23 वीं वाहिनी अशोक कुमार गुप्ता ने किया।

इसके बाद हिल फाउंडेशन स्कूल की छात्राएं वैष्णवी चौहान और सिमरन शर्मा ने गणेश वंदना पेश की। फिर मशहूर कत्थक नृत्यांगना स्वि‍टी गुसाईं ने तराना विधा की शानदार प्रस्तुति दी। द एशियन स्कूल की सातवीं क्लास की प्रियांशी अग्रवाल ने सरहदों पर तैनात सैनिकों को भाषण से रक्षाबंधन की शुभकामना दी। 

हिल फाउंडेशन की अलीशा, वंशिका, किरन और मितांशी ने रक्षाबंधन के गीत मेरी राखी की डोर कभी न हो कमजोर पर शानदार नृत्य प्रस्तुति दी। इसके बाद डीआईजी केपी सिंह ने दैनिक जागरण के भारत रक्षा पर्व की सराहना करते हुए कहा कि इससे सरहदों पर तैनात सेना, अर्द्ध सैनिक बलों के जवानों के हौसले बुलंद होंगे।

पहले लोग कहते थे कि फौजे लड़ेंगी यह उनका काम है इस बात की सेलरी लेती हैं, लेकिन आज बच्चों, बहनों, माताओं का प्यार, समाज का साथ खड़ा होना इस अंतर को समाप्त करता है। उन्होंने कहा कि जिस दिन एक सैनिक ट्रैनिंग लेने जाता है तो उसी दिन से राष्ट्र से एक बंधन स्थापित करता है जो उसको राष्ट्र सेवा के लिए प्रेरित करता है।

सिंह ने जोशीले स्वर में कहा कि वे विश्वास दिलाते है कि जनता की विश्वास की डोरी नहीं टूटने देंगे, कोई भी आंख देश की तरफ नहीं उठने दी जाएगी। सिर्फ आइटीबीपी ही नहीं बल्कि अलग-अलग फोर्स भी राष्ट्र की सुरक्षा के लिए न केवल प्रतिबद्ध हैं, बल्कि समर्पित है।

अंत में सेंट जोसफ्स एकेडमी, द एशियन स्कूल, एसजीआरआर पब्लिक स्कूल वसंत विहार मिडिल ब्रांच और पटेल नगर शाखा, सोशल बलूनी पब्लिक स्कूल, यूनिवर्सल एकेडमी, राजीव गांधी नवोदय विद्यालय की छात्राओं ने आइटीबीपी के अधिकारियों और जवानों को सामूहिक रूप से राखी बांधकर रक्षा पर्व मनाया। इसी के साथ 26 जुलाई से चल रहे रक्षा पर्व का समापन हो गया।

योद्धाओं का भी हुआ सम्मान

दैनिक जागरण ने इस साल सेना और अर्द्धसैन्‍य बलों में उत्कृष्ट काम करने वाले चुनिंदा योद्धाओं (रिटायर अधिकारियों) को सम्मानित किया। ब्रांड मैनेजर मोहित गुप्ता ने सेवानिवृत्त आईजी बीएसएफ एसएस कोटियाल, सेना से सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर केजी बहल और ब्रिगेडियर पीपीएस पाहवा को देश के लिए अपने अतुल्य योगदान के लिए भारत रक्षा पर्व स्मृति चिन्ह भेंट कर एवं शॉल ओढ़ा कर सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें: भारत रक्षा पर्व: सरहदों की रक्षा कर रहे भाइयों को बहनों ने भेजा प्यार Dehradun News

यह भी पढ़ें: स्वतंत्रता दिवस पर इतने साल बाद बन रहा रक्षाबंधन का संयोग, जानिए क्या है शुभ मुहूर्त

यह भी पढें: क्रोध शांत करने को इस पर्वत के शिखर पर की थी भगवान परशुराम ने पूजा, स्कंद पुराण में उल्लेख

Posted By: Sunil Negi