देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड क्रिकेट की मान्यता पर फैसला लेने में बीसीसीआइ खुद असमंजस में है। बीसीसीआइ के एक अधिकारी की ओर से बनाई गई दो रिपोर्ट में अलग-अलग बात सामने आ रही है। 17 व 18 जून को दून में क्रिकेट संघों के साथ हुई बैठक की रिपोर्ट एफिलेशन टीम ने बीसीसीआइ को भेज दी है। इसमें एक एसोसिएशन को विशेष तवज्जो दी गई है। अन्य सभी को कमजोर दर्शाया गया है।

क्रिकेट संघों के साथ बैठक करने दून आइ एफिलेशन टीम ने विगत सोमवार को बैठक की रिपोर्ट बीसीसीआइ को सौंप दी है। बीसीसीआइ की एफिलेशन टीम में शामिल अधिकारी अंशुमान गायकवाड़ इससे पहले भी मान्यता के संबंध में दो दिवसीय दौरे पर उत्तराखंड आ चुके हैं। 

14 व 15 जून 2016 में अंशुमान गायकवाड़ व प्रकाश दीक्षित राज्य की चारों एसोसिएशन के साथ बैठक करने देहरादून पहुंचे थे। जहां उन्होंने सभी एसोसिएशन के साथ दो घंटे तक क्रिकेट संचालन व मान्यता संबंधित बातचीत की। 

बैठक के बाद दोनों अधिकारियों ने चार जुलाई 2017 को बैठक की रिपोर्ट बनाकर बीसीसीआइ को सौंपी। इसमें उन्होंने साफ किया था कि क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड व उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन राज्य में क्रिकेट व खिलाडिय़ों के लिए बेहतर कार्य कर रही हैं। 

इसके बाद 17 व 18 जून 2019 में क्रिकेट संघों के साथ बैठक करने आई एफिलेशन टीम में भी अंशुमान गायकवाड़ शामिल थे। इस बैठक की रिपोर्ट में उन्होंने पिछली रिपोर्ट से बिल्कुल उल्टा लिखा है। 

इसमें उत्तरांचल क्रिकेट एसोसिएशन की तारीफों के पुल बांधे गए हैं। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड व उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन का प्रदर्शन निराशजनक बताया है। ऐसे में सवाल यह है कि बीसीसीआइ के एक ही अधिकारी द्वारा बनाई गई दो रिपोर्ट अलग-अलग कैसे हो सकती हैं।

14 से पहले दर्ज करानी होगी आपत्ति, 15 को बैठक

एफीलेशन टीम की ओर से बीसीसीआइ को बैठक की रिपोर्ट सौंपने के बाद उत्तराखंड के चारों क्रिकेट संघों को सात दिन के भीतर अपने सुझाव व आपत्ति प्रशासकों की समिति को भेजनी होंगे। इसके बाद 15 जुलाई को दिल्ली में समिति के अध्यक्ष विनोद राय के साथ बैठक होगी। जिसमें मान्यता की तस्वीर साफ हो सकती है।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा चयनित प्रशासकों की कमेटी ने मेल के माध्यम से सभी क्रिकेट संघों को 17 व 18 जून को हुई बैठक पर तैयार रिपोर्ट भेजी है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर किसी भी क्रिकेट संघ को इस पर कोई आपत्ति या कोई सुझाव देने हैं तो वह सात दिन के अंदर प्रशासकों की समिति को भेज सकता है। 

इसके अलावा उन्होंने सभी संघों को 15 जुलाई को दिल्ली बुलाया है। जिसमें उन्होंने साफ किया है कि एक एसोसिएशन से मात्र दो सदस्य ही बैठक में शामिल हो सकते है। जिसमें उन्होंने सभी सदस्यों से अपने जरूरी दस्तावेज साथ लाने को कहा है।

स्पोर्टस कॉलेज व स्पोर्टस ऐकेडमी संयुक्त विजेता

चौथी उत्तराखंड (डेज) क्रिकेट लीग में खेले जाने वाला तीन दिवसीय फाइनल मुकाबला बारिश से धुल गया। स्पोर्टस कॉलेज सीनियर व स्पोर्टस ऐकेडमी के बीच फाइनल खेला जाना था। लगातार हो रही बारिश के कारण मैदान गीला होने से मैच शुरू ही नहीं हो सका। इसके चलते आयोजकों ने दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित कर दिया। 

स्पोर्टस कॉलेज के मल्टीपर्पज हॉल में मुख्य अतिथि दून डिफेंस ऐकेडमी के चेयरमैन संदीप गुप्ता ने दोनों टीमों को संयुक्त रूप से ट्रॉफी प्रदान की। इस दौरान विशिष अतिथि अमित पांडे, रवि नेगी, दिनकर जोशी, मनीष पंत, रविंद्र ठाकुर, दिनेश शर्मा, शीतल सिंह, संजय रावत, पवन पाल आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: नैनीताल को तीन विकेट से हराकर देहरादून फाइनल में पहुंचा Dehradun News

यह भी पढ़ें: नेशनल गेम्स के लिए खिलाड़ियों को टीए-डीए के साथ मिलेगी खेल किट

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड क्रिकेट की मान्यता में देरी से खिलाड़ियों को हो रहा ये नुकसान

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप