जागरण संवाददाता, देहरादून। Ankita Murder Case उत्‍तराखंड के पुलिस महानिदेशक ( डीजीपी) अशोक कुमार ने बताया कि अंकिता हत्‍याकांड में गिरफ्तार किए गए आरोपित रिसार्ट के स्‍वामी पुलकित आर्या, प्रबंधक सौरभ भाष्‍कर और साहयक प्रबंधक अंकित गुप्‍ता के विरुद्ध गैंगस्‍टर के तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलकित बेहद बेहद शातिर है।

अंकिता के दोस्त के बयान होंगे महत्वपूर्ण

अशोक कुमार (पुलिस महानिदेशक, उत्तराखंड ) ने कहा कि अंकिता के दोस्त पुष्प व पुलकित के मैनेजर के बीच फोन पर हुई बात व वाट्सएप चैट महत्वपूर्ण साक्ष्य हैं। जल्द ही पुष्प को बयान दर्ज करने के लिए बुलाया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि रिसार्ट में आग लगाकर साक्ष्य नष्ट करने वाली बात सही नहीं है। एएसपी शेखर सुयाल ने अपनी टीम के साथ मौके पर जाकर पर्याप्त साक्ष्य जुटा लिए हैं। इसके अलावा फोरेंसिक टीम भी कमरे से साक्ष्य जुटा चुकी है।

पूरे साक्ष्य एकत्र करने के बाद दाखिल करेंगे आरोपपत्र

आरोपपत्र दाखिल करने में पुलिस जल्दबाजी नहीं करेगी। पूरे साक्ष्य एकत्र करने के बाद ही आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा, ताकि दोषियों को सजा दिलाई जा सके। रविवार को एसआइटी मौके पर गई थी। टीम ने भी साक्ष्य जुटाए हैं। रिसार्ट में गलत गतिविधियों के संबंध में यदि कोई शिकायत मिलती है तो इसकी भी जांच करवाई जाएगी।

Ankita Murder Case: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अंकिता की मां और पिता से की मुलाकात, सीएम धामी को फोन कर बताए हालात

रिसार्ट में बंद पड़े सीसीटीवी कैमरे

सीसीटीवी कैमरों से भी एसआइटी को कोई महत्वपूर्ण सुराग मिलने की उम्मीद नहीं है। वजह यह कि जिस स्थान से अंकिता को नहर में फेंका गया, उससे छह किलोमीटर पहले तो अंकिता और तीनों हत्यारोपित सीसीटीवी कैमरे में नजर आ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि अंकिता, पुलकित के पीछे बाइक में बैठी थी। इसके बाद जंगल का क्षेत्र है और वहां कोई सीसीटीवी कैमरे नहीं हैं। वहीं, रिसार्ट में सिर्फ दिखावे के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, वहां कोई भी कैमरा चालू स्थिति नहीं है।

Ankita Murder Case: हरीश रावत बोले- कौन हैं वे VIP जिसके लिए अंकिता पर बनाया जा रहा था दबाव, देखें वीडियो

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट