टीम जागरण, देहरादून : Ankita Murder Case : ऋषिकेश में सामने आए अंकिता हत्‍याकांड मामले के बाद से उत्‍तराखंड में उबाल है। इसी क्रम में मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने एसआइटी गठित करने के आदेश दिए हैं। उन्‍होंने इंटरनेट मीडिया पर पोस्‍ट कर इसकी जानकारी दी है।

हत्याकांड में जो भी शामिल होगा उसके खिलाफ होगी कार्यवाही

वहीं दोपहर बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बयान जारी कर कहा कि अंकिता हत्याकांड में जो भी शामिल होगा उसके खिलाफ कार्यवाही होगी। मामले की फोरेंसिक जांच भी होगी।

पार्टी और आयोग से आरोपित पुल्कित आर्या के पिता और भाई को हटा दिया गया है। हर अपराधी के खिलाफ कार्यवाही होगी। मामले को फास्ट ट्रेक कोर्ट में ले जाने का प्रयास होगा। सीएम धामी की जनता से अपील की कि सरकार और पुलिस की कार्यवाही पर संशय न करें।

अवैध अतिक्रमण पर सीएम ने कहा कि जिन्होंने सरकार और वन भूमि पर अतिक्रमण किया है उसको लेकर निर्देश दिए गए हैं। जिला अधिकारी अपने जनपदों में ऐसे प्रकरणों की जांच करें।अवैध बने हर रिसॉर्ट पर कार्रवाई होगी।

पुल्कित के भाई को ओबीसी आयोग के उपाध्यक्ष के पद से हटाया

वहीं मुख्‍य आरोपित पुल्कित आर्या के भाई अंकित आर्या को ओबीसी आयोग के उपाध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आदेश पर यह कार्रवाई की गई है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने दी जानकारी।

विनोद आर्य और अंकित आर्य भाजपा से निष्काषित

भाजपा ने अंकिता हत्याकांड में पुल्कित आर्याकी गिरफ्तारी के बाद उसके पिता विनोद आर्या और भाई अंकित आर्या को पार्टी से निष्काषित कर दिया है। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के निर्देश पर यह कार्यवाही की गयी है।

दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए एसआइटी का गठन

इससे पहले शनिवार की सुबह अपनी पोस्‍ट में मुख्‍यमंत्री ने लिखा कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने हेतु पुलिस उपमहानिरीक्षक पीरेणुका देवी के नेतृत्व में एसआइटी का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के आदेश दिए गए हैं।

Edited By: Nirmala Bohra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट