Move to Jagran APP

यूपी के इस जिले में घर-घर स्मार्ट मीटर अभियान पर लगा ब्रेक, पहले ही चरण में होना था काम; अब करना होगा इंतजार

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों से बिजली चोरी की अधिकतर घटनाएं आती हैं। बिजली चोरी रोकने के लिए नया सिस्टम शुरू किया जा रहा है। अब जो भी नए कनेक्शन जारी होंगे उन पर आर्मर्ड केबल अनिवार्य कर दिया गया है। सामान्य केबल पर बिजली आपूर्ति होती मिली तो संबंधित अवर अभियंता व अन्य बिजली कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। हालांकि अभी इस अभियान पर ब्रेक लग गया है।

By Sumit Mishra Edited By: Riya Pandey Tue, 09 Jul 2024 02:32 PM (IST)
आर्मर्ड केबल न होने से रुका स्मार्ट मीटर का कार्य

संवाद सूत्र, प्रतापगढ़। अब आर्मर्ड केबल की वजह से घर-घर स्मार्ट मीटर अभियान में ब्रेक लग गया है। जुलाई माह के प्रथम चरण से इसकी शुरूआत होनी थी, लेकिन अब कार्य टल गया है। हालांकि केबल आने के बाद कार्य शुरू होगा।

शहर से लेकर गांव तक 24 घंटे का रोस्टर लागू है, लेकिन बिजली व्यवस्था सुदृढ़ न होने से इसमें दिक्कत आ रही है। लोकल फाल्ट की वजह से काफी दिक्कत होती है। इसमें बिजली चोरी भी एक मुख्य वजह है।

स्मार्ट मीटर के लिए सभी डिवीजन में सर्वे कार्य पूरा

बिजली चोरी से निजात दिलाने के लिए शहर से लेकर गांव तक एरियल बंच केबल लाइन खींची जा रही है। इससे लोकल फाल्ट पर काफी हद तक रोक लग जाएगी। इसके अलावा स्मार्ट मीटर की भी पहल की गई है। सभी डिवीजन में सर्वे का कार्य पूरा हो चुका है।

आर्मर्ड केबल न होने से रुक गया कार्य

पहले चरण में शहर से इसकी शुरुआत होनी थी। इसके लिए 10 हजार स्मार्ट मीटर आ गए हैं लेकिन आर्मर्ड केबल न होने से कार्य रुक गया है। पुरानी केबल के जरिए स्मार्ट मीटर की सेटिंग करने से मना किया गया है। अधीक्षण अभियंता सत्यपाल ने बताया कि स्मार्ट मीटर आ गया है। आर्मर्ड केबल आने पर कार्य शुरू होगा।

यह भी पढ़ें- UP News: बिजली की मांग का बना नया रिकॉर्ड, 30618 मेगावाट पहुंची पीक डिमांड, सप्लाई में नंबर वन पर आया यूपी

यह भी पढ़ें- UPPCL: यूपी के इस ज‍िले में लो वोल्टेज और ब्रेकडाउन की समस्या होगी दूर, ब‍िजली व‍िभाग करने जा रहा ये काम