मुरादाबाद, जेएनएन। भागदौड़ के बीच हम चेहरा, आंख, कान, जीभ, छाती और अंगुलियों पर ध्यान नहीं दे पाते हैं। इससे 30 साल से ज्यादा उम्र होने के बाद तरह-तरह की बीमारियों की चपेट में आने लगते हैं। इससे निजात के लिए खुद के ल‍िए वक्‍त न‍िकालना होगा। न‍ियम‍ित योग से कई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं से दूर रहा जा सकता है। अगर आप नियमित सिंहासन योग आसन करेंगे तो आपको इस तरह के विकार से निजात मिलेगी। इसके साथ ही इस आसन को करने से तनाव भी कम होगा।

सिंहासन योग आसन एक एंटी-एजिंग थेरेपी के रूप में कार्य करती है। चेहरे पर रक्त परिसंचरण में सुधार होता है। चेहरे की झुर्रियां भी कम होंगी। मुंह की दुर्गंध को दूर करता है। आपकी गर्दन की मांसपेशियाें को आराम मिलता है। आंखों की जलन भी दूर होगी। यह आसन शर्मीले, घबराए स्वभाव के लोगों के लिए बहुत उपयोगी है। हकलाने वालों को भी फायदा मिलेगा। वजन कम होगा। मासिक धर्म, आंत की सफाई, थाइराइड आदि में भी फायदा मिलेगा। योग प्रशिक्षक डॉ. महजबीं परवीन ने बताया कि जमीन पर कंबल बिछाएं। इसके बाद वज्रासन में बैठें। अपने घुटनों को अलग रखें ताकि दोनों के बीच सही दूरी हो। दोनों हाथों की हथेलियों को पैरों के घुटनों पर रख दें। रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें और गहरी सांस लें। अब अपनी जीभ को जितना हो उतना बाहर की ओर निकालें। इसके बाद ध्‍वन‍ि निकालें। शरीर को अंतिम स्थिति में आराम दें। आप इस प्रक्रिया को 10-15 बार दोहराएं। ये आसन सुबह शाम खाली पेट किया जा सकता है। 

यह भी पढ़ें 

Indian Railways : अब लीजिए जर्म फ्री डिस्पोजेेबल बेडरोल, रेलवे स्‍टेशन पर कराई गई व्‍यवस्‍था

पीछे की लाइन में कुर्सी लगाने पर भड़के मुरादाबाद भाजपा ज‍िलाध्‍यक्ष, तेवर को लेकर रहते हैं चर्चा में 

मुरादाबाद ज‍िले के लोगों को म‍िला 183 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उपहार, होंगे ये कार्य

Edited By: Narendra Kumar