Move to Jagran APP

Ganga Dussehra 2024: आसमान से 'बरसती आग' के बीच स्नानार्थियों गंगा में लगाई डुबकी, सोरों के घाट पर उमड़ी आस्था

Ganga Dussehra 2024 Kasganj News In Hindi गंगा दशहरा पर सूरज की तपिश भी नहीं रोक सकी स्नानार्थियों के कदम। रविवार सुबह से ही गंगाघाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहीं। यूपी के अलावा यहां राजस्थान मध्यप्रदेश से बड़ी संख्या में श्रद्धालु गंगा और हरिपदि में स्नान के लिए आते हैं। गंगा दशहरा पर स्नान के बाद लोगों ने दान पुण्य किए।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Sun, 16 Jun 2024 12:13 PM (IST)
Ganga Dussehra 2024: आसमान से 'बरसती आग' के बीच स्नानार्थियों गंगा में लगाई डुबकी, सोरों के घाट पर उमड़ी आस्था
Kasganj News: कासगंज के सोरों में श्रद्धालुओं ने किया स्नान।

जागरण टीम, कासगंज। गंगा दशहरा पर स्नान को शनिवार की शाम से ही श्रद्धालुओं का गंगाघाटों पर पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। सूरज की तपिश भी गंगा स्थानार्थियों के कदमों को नहीं रोक सकी। जिले के गंगाघाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहीं। लोगों ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई। स्नानार्थियों की भीड़ को लेकर पुलिस प्रशासन द्वारा किए गए इंतजाम भी नाकाफी साबित हुए। जगह-जगह जाम के हालात बने रहे।

गंगा दशहरा स्नानार्थियों के लिए विशेष पर्व माना जाता है। रविवार की सुबह से ही गंगा स्नान को श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला जारी हो गया। शनिवार की देर शाम से ही राजस्थान, मध्य प्रदेश, दिल्ली सहित अन्य प्रदेशों से गंगागाघाटों पर पहुंचने वाल श्रद्धालुओं का सिलसिला जारी हो गया।

सोरों के हरिपदी गंगाघाट, लहरा गंगाघाट, कादरगंज गंगाघाट सहित बदायूं जिले की सीमा पर स्थित कछला गंगाघाटों पर श्रद्धालुओं ने स्नान किया। जरुरतमंदों का दान दक्षिण देकर पुण्य लाभ कमाया।

ये भी पढ़ेंः Weather Update: आगरा में भीषण गर्मी के बीच लू का अलर्ट जारी, ताजमहल सहित स्मारकों में आठ पर्यटकों की बिगड़ी तबीयत

ये भी पढ़ेंः UP News: दो दिन 10 घंटे बंद रहेगा आगरा-बरेली मार्ग, छह घंटे नहीं चलेगी कासगंज-मथुरा रूट पर एक भी ट्रेन

जाम ने किया परेशान

सूरज की गर्मी भी श्रद्धालुओं के कदमों को नहीं रोक सकी। तेज धूप में भी भारी मात्रा में स्नानार्थी गंगा स्नान को पहुंचे। श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए जगह-जगह जाम के हालात पैदा हो गए। पुलिस की यातायात व्यवस्था फेल नजर आई। पुलिस कर्मी जाम खुलवाने में मशक्कत करते देखे गए।

धर्मप्रेमी जनता द्वारा जगह-जगह प्याऊ लगाए। जिनमें शरबत, पानी, केला आदि वितरित किए। भंडारे भी आयोजित किए गए। जहां स्नानार्थियों को प्रसाद वितरित किया गया।