Move to Jagran APP

बकरीद पर देने जा रहे थे बकरे की बलि, तभी रास्‍ते में हुआ कुछ ऐसा पहुंच गए अस्‍पताल; रहस्‍यमय तरीके से बकरा हुआ गायब

बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले एक शख्‍स बकरीद पर बकरीद की बल‍ि देने के ल‍िए यूपी के अंबेडकरनगर जा रहे थे। शख्‍स के साथ उसका पर‍िवार भी था। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के सिंगेरा गांव के पास कार का एक्‍सीडेंट हो गया। हादसे में पर‍िवार के सात लोग घायल हो गए। इस बीच मची चीख-पुकार के बीच बकरा भी कहीं गायब हो गया।

By Satish Kumar Pandey Edited By: Vinay Saxena Mon, 17 Jun 2024 04:06 PM (IST)
घटनास्‍थल से रहस्‍यमय तरीके से गायब हुआ बकरा।- सांकेत‍िक तस्‍वीर

संवाद सूत्र, मरदह (गाजीपुर)। बिहार से अंबेडकरनगर जा रही स्कार्पियो चालक के नींद आने के कारण पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के सिंगेरा गांव के पास अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में एक ही परिवार के सात लोग घायल हो गए। सभी लोग मन्नत पूरी होने पर मजार पर बकरा की बलि देने जा रहे थे। घायलों को जिला चिकित्सालय मऊ में भर्ती कराया गया है। उधर, हादसे के बाद बकरा गायब हो गया।

बिहार के रोहतास जिला के अमझोर थाना के गांव तिलौथा रलियान बिगहा निवासी धर्मेन्द्र कुशवाहा स्कार्पियो से पत्नी सोसिता, पुत्र प्रशांत ,पुत्री श्वेता, बड़े भाई रामेन्द्र कुशवाहा ,भाभी रीता देवी, भतीजा अभिजीत को लेकर आंबेडकरनगर के कछवछा शरीफ दरगाह जा रहा था।

चालक को झपकी आने से हुआ हादसा

रविवार की रात दस बजे वह घर से निकले। तड़के पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के 302 किमी पर मरदह थाना के सिंगेरा गांव के पास गाड़ी चला रहे धर्मेंद्र को नींद की झपकी आ गई। इस दौरान स्कार्पियो अनियंत्रित होकर रेलिंग तोड़ते हुए पलट गई। हादसे में स्कार्पियो सवार सभी पुरुष, महिलाएं व बच्चे घायल हो गए। एक्सप्रेसवे के बचाव दल व स्थानीय पुलिस ने पहुंचकर सभी घायलों को जिला अस्पताल मऊ भिजवाया।

15 हजार रुपए में खरीदा था बकरा 

धर्मेन्द्र ने बताया कि पत्नी की तबीयत खराब रहती थी। तबीयत ठीक होने पर दरगाह पर बकरा की कुर्बानी देने की मन्नत मांगी थी। स्वास्थ्य में सुधार होने पर वह 15 हजार में बकरा खरीद कर दरगाह पर कुर्बानी के लिए स्वजन के साथ जा रहे थे। उधर, स्कार्पियो पलटने से मचे कोहराम के बीच बकरा कहीं चला गया। काफी तलाश के बाद भी वह नहीं मिला।

यह भी पढ़ें: Bakrid 2024: आगरा में खुदा के सजदे में झुके हजारों सिर, मांगी देश में अमन शांति की दुआ...तीन दिन चलेगा कुर्बानी का चक्र