अयोध्या, जेएनएन। Ram Mandir Bhumi Pujan News: राम नगरी अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन के साथ आधारशिला रखने की उलटी गिनती शुरु हो गई है। इसका पूजन कार्यक्रम आज यानी सोमवार से शुरु हो गया है। भूमि पूजन कार्यक्रम को वाराणसी के साथ प्रयागराज व अयोध्या के पंडित करा रहे हैं। यह पूजन कार्यक्रम पांच अगस्त तक चलेगा। मंदिर के भूमि पूजन का काम शुरू हो गया है। इससे पहले पंडित कल्किराम ने रामलला के अर्चक को पोशाक के चार सेट के साथ ध्वजा भी सौंपे हैं।

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के निर्माण के लिए आज से भूमि पूजन की प्रक्रिया सुबह से शुरू हो गई है। इसके तहत गौरी-गणेश की आराधना के साथ 21 पुरोहित अन्य पूजन संपन्न करा रहे हैं। आज सॉलिड स्टोन की नौ शिला का पूजन किया गया। मंदिर का नक्शा पास होने के बाद जहां पर रामलला विराजमान हों, वहां की नींव के नीचे इन नौ शिलाओं की स्थापना होगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा-श्रीराम मंदिर का भूमि पूजन गौरवशाली व ऐतिहासिक क्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीराम जन्मभूमि परिसर के साथ हनुमानगढ़ी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि पांच अगस्त का दिन हमारे लिए काफी गौरवशाली व ऐतिहासिक है। इसके महत्व को समझते हुए, यहां अयोध्या में कार्यों का अवलोकन करने के लिए मैं स्वयं आया हूं। अयोध्या के साथ-साथ देश और दुनिया के लिए एक ऐतिहासिक क्षण होगा जब प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में लगभग 500 वर्षों की इस परीक्षा के परिणाम के साथ भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण की आधारशिला रखेंगे।

यहां पर हम आज बाहर की व्यवस्था आदि देखने तथा निरीक्षण करने के लिए हम यहां आए हैं। यहां पर कहीं भी कोई कोताही न बरती जाए, हम लोगों ने इसके लिए पूरी तत्परता के साथ तैयारी की है। प्रशासन का मुख्य फोकस कोविड-19 के प्रोटोकॉल को मजबूती से लागू करने पर है। इससे पहले उन्होंने अयोध्या का हवाई सर्वेक्षण किया। इस हवाई सर्वेक्षण के बाद वह साकेत डिग्री कॉलेज में बने हेलीपैड पर हेलिकाप्टर से उतरे। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोंडा में बाढ़ क्षेत्र का निरीक्षण करते हुए दोपहर धर्म नगरी अयोध्या पहुंचे। इससे पहले उनको रविवार को ही अयोध्या जाना था, लेकिन मंत्री कमल रानी वरुण के निधन के कारण उनका दौरा रद हो गया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज एक बार फिर समारोह की तैयारियों का जायजा लेने अयोध्या पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री यहां पर करीब चार घंटे रहेंगे। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने 25 जुलाई को अयोध्या का दौरा किया था।

21 पुरोहितों ने अनुष्ठान की शुरुआत की

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर अयोध्या की पांच अगस्त को राम मंदिर की आधारशिला रखी जानी है। इस क्षण को उत्सव के रूप में मनाने के लिए अयोध्या में भव्य तैयारी की गई है। तीन दिन तक चलने वाला श्रीराम मंदिर भूमि पूजन का अनुष्ठान आज यानी सोमवार से शुरू हो गया है। गौरी गणेश पूजन के साथ श्री राम जन्मभूमि में अनुष्ठान आज से शुरू हो गया है। सोमवार से 21 पुरोहितों ने यहां पर गौरी गणेश का आह्वान कर राम मंदिर भूमि पूजन के अनुष्ठान की शुरुआत कर दी है। 

श्रीराम मंदिर निर्माण का पूजन उत्सव रामनगरी अयोध्या में शुरू है। मंदिर निर्माण का भूमि पूजन के साथ ही आधारशिला रखने का कार्यक्रम पांच  अगस्त को होगा। उससे पहले 3 अगस्त से ही पूजन उत्सव का शुभारंभ हो चुका है। हिंदू परंपरा के मुताबिक ही पूजन उत्सव का आरंभ सबसे पहले गणपति की स्तुति से हुआ है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव जी महाराज ने गणेश स्तुति के माध्यम से पूजन उत्सव की शुरुआत की। आज से अगले दो दिन तक अयोध्या पूरी तरह से राममय रहेगी। कोरोना संक्रमण की वजह से यहां भव्य आयोजन और पूजन उत्सव में रामभक्तों की सहभागिता उतनी नहीं हो पाई, जैसी आम दिनों में होती। सभी रामभक्त अपने घरों में ही इस आयोजन से जुड़े अनुष्ठान कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को जब राम मंदिर की आधारशिला रख रहे होंगे, तब रामलला पंडित कल्किराम की ओर से भेंट की गयी पोशाक धारण किये होंगे। पंडित कल्किराम ने रामलला के प्रधान अर्चक आचार्य सत्येंद्रदास को रामलला के लिए चार सेट पोशाक सौंपी। रामलला इसमें से सफेद पोशाक सोमवार को, लाल पोशाक मंगलवार को तथा नव रत्नों से युक्त हरी पोशाक बुधवार को ऐन भूमिपूजन के दिन तथा पीली पोशाक गुरुवार को धारण करेंगे। पोशाक के प्रत्येक सेट के साथ रामलला सहित भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न, हनुमान जी एवं लड्डूगोपाल के विग्रह की पोशाक, आगे एवं पीछे का पर्दा तथा बिछावन शामिल है। पोशाक के साथ धर्मध्वज एवं विजय पताका के भी सात सेट दिये।

यह भी पढ़ें :  Ram Mandir Ayodhya Update: ऐतिहासिक पल के गवाह बनेंगे इकबाल, बोले- राम की इच्छा थी कि मुझे पहला निमंत्रण मिले

कल्किराम दो वर्ष से रामलला को पोशाक अर्पित कर रहे हैं। पंडित कल्किराम, रामलला, प्रधानमंत्री और मुख्य अर्चक के बीच रोचक समीकरण है। जनवरी 2014 में नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री भी नहीं हुए थे, तब पं. कल्किराम ने उनकी सफलता के लिए सतत अनुष्ठान किया। प्रत्येक अनुष्ठान की पूर्णाहुति पर रामलला के लिए मुख्य अर्चक को ध्वज सौंपते रहे हैं। रामादल के अध्यक्ष पं. कल्किराम पीएम मोदी के लिए छह वर्षों से अनुष्ठान करते आ रहे हैं। कल्किराम ने भूमिपूजन और प्रधानमंत्री के आगमन के ऐतिहासिक क्षण को यादगार बनाने के लिए अयोध्या के सभी शिवालयों और सरयू के घाटों को देशी घी के दीपों से सज्जित करने की तैयारी भी कर रखी है।

1.25 लाख बार शंखनाद का संकल्प 

अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन से पहले शंखनाद हो रहा है। हैदराबाद से अयोध्या पहुंचे श्रीवल्लभ शंख का प्रण है कि वो भूमिपूजन से पहले 11 हजार बार शंखनाद करेंगे और राम मंदिर निर्माण से पहले देशभर में घूम-घूमकर 1.25 लाख बार शंखनाद करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत के लिए तैयार है राम की नगरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या दौरे का काउंटडाउन शुरू हो गया है। एसपीजी की टीम शुक्रवार की शाम अयोध्या पहुंच गई थी। एसएसपी और आईजी ने कार्यक्रम स्थल राम जन्मभूमि परिसर का निरीक्षण किया। सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए एसपीजी और लोकल पुलिस के बीच समन्वय बनाने के लिए अधिकारियों की बैठक हो रही है। सुरक्षा को लेकर मंगलवार से अयोध्या को सील कर दिया जाएगा। 

दीपावली की भी तैयारी

राममंदिर के भूमि पूजन के मद्देनजर अयोध्या में दीपावली मनाने के लिए रामनगरी में चार व पांच अगस्त को दीप प्रज्वलन कार्यक्रम प्रस्तावित है। पांच अगस्त को राममंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शिरकत करेंगे। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी आरपी यादव के अनुसार दीप प्रज्वलन व लाइङ्क्षटग की तैयारी पूरी हो चुकी है। दीपावली मनाने के लिए पर्यटन विभाग की तरफ से मिट्टी की दीये, सरसो का तेल आदि की आपूर्ति शुरू है। लाइटिंग कार्य शुरू हो गया है।

यह भी पढ़ें : Ayodhya Ram Temple News: राम मंदिर की नींव में पड़ेगी पाकिस्तान के मंदिर की मिट्टी

हाईवे पुल, रेल पुल व नयाघाट पुल रंग-बिरंगी लाइटिंग से सजाया जा रहा है। ट्रेन व हाईव से गुजरने वालों को भूमि पूजन के उपलक्ष्य में रामनगरी के दीपावली मनाने का अहसास कराना है। दीप प्रज्वलन के लिए रामनगरी में करीब 30 स्थानों को चिह्नित किए गए है। करीब 135 टीन सरसों का तेल, करीब दो लाख रुई की बत्ती, एक लाख से ज्यादा मिट्टी के दीये के अलावा सात हजार से ज्यादा मोमबत्ती के पैकट का वितरण शुरू है। रामनगरी में राममंदिर निर्माण के भूमि पूजन के उल्लास में दीपावली जैसे माहौल की तैयारी है।

यह भी पढ़ें :  Ayodhya Ram Temple News: ओली को आईना दिखाने वाला है अयोध्या का नेपाली मंदिर

गहन समीक्षा 

सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंचे। शाम पांच बजे तक यहां पर पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन तथा शिलान्यास की हर तैयारी परखेंगे। वह भूमि पूजन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा भी लेंगे। इसके साथ ही वह श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास से भी मिलेंगे। 

यह भी पढ़ें : Ayodhya Ram Temple News: राम की तरह खरी है उनकी जन्मभूमि की मिट्टी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस