नई दिल्ली, टेक डेस्क। मेटा के इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने बुधवार को 23 लाख से अधिक खराव अकाउंट्स को बैन कर दिया है। यह कदम नए IT Rules 2021 के तहत उठाया गया है। बता दें कि ये आंकड़ा केवल अक्टूबर महीने का है। वॉट्सऐप 400 मिलियन से अधिक यूजर्स के साथ वॉट्सऐप दुनिया भर में इस्तेमाल होने वाला मैसेजिंग ऐप हैं। इसलिए ये नए नियम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अधिक जिम्मेदारियां डालने के लिए संशोधन किए गए हैं।

701 शिकायत की मिली रिपोर्ट

वॉट्सऐप ने बताया कि उसने 1 अक्टूबर से 31 अक्टूबर के बीच में 23,24,000 वॉट्सऐप खातों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, जिनमें से 8,11,000 खातों को सक्रिय रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया था। ऐप को भारत में अक्टूबर में 701 शिकायत की रिपोर्ट मिलीं, जिसमें से 34 पर 'कार्रवाई' के रिकॉर्ड थे।

यह भी पढ़ें- आधार कार्ड से Voter iD को ऐसे करें लिंक , इन आसान स्टेप्स को फॉलो कर मिनटों में हो जाएगा काम

एक वॉट्सऐप प्रवक्ता ने कहा कि आईटी नियम 2021 के अनुसार, हमने अक्टूबर 2022 के महीने के लिए अपनी रिपोर्ट प्रकाशित की है। जैसा कि लेटेस्ट मासिक रिपोर्ट में दर्ज किया गया है, वॉट्सऐप ने अक्टूबर के महीने में 2.3 मिलियन से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

कंपनी ने ऐसा इस लिए किया है क्योंकि एडवांस आईटी नियम 2021 के तहत, 5 मिलियन से अधिक यूजर्स वाले प्रमुख डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मासिक अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करनी होती है।

सितंबर में इतने अकाउंट हुए थे बैन

फर्म द्वारा जारी एक बयान में पता चला है कि इस साल 1 सितंबर से 30 सितंबर के बीच 2,685,000 वॉट्सऐप खातों को तत्काल मैसेजिंग सर्विस से प्रतिबंधित कर दिया गया था। यूजर्स की किसी भी रिपोर्ट से पहले, इनमें से 872,000 खातों को सक्रिय रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया था।

मेटा का कहना है कि शिकायत चैनल के माध्यम से यूजर की शिकायतों का जवाब देने और कार्रवाई करने के अलावा, वॉट्सऐप ने प्लेटफॉर्म पर हानिकारक व्यवहार को रोकने के लिए उपकरण और संसाधन भी तैनात किए। कंपनी रोकथाम पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं क्योंकि इनका मानना है कि हानिकारक गतिविधि को पहले ही होने से रोकना बेहतर है, बजाय इसके कि नुकसान होने के बाद इसका पता लगाया जाए।

यह भी पढ़ें- WhatsApp पर मैसेज रिएक्शन नोटिफिकेशन को करना चाहते हैं डिसेबल, तो फॉलो करें ये स्टेप्स

Edited By: Ankita Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट